RED ZONE में फंसे लोगों के लिए शिवराज सरकार का बड़ा फैसला

3198

भोपाल।

मध्य प्रदेश के रेड जोन वाले इलाके में लगातार बढ़ रहे कोरोना के आंकड़ों के बीच अब राज्य सरकार ने राज्य के अन्य जिले में फंसे लोगों को राहत दी है। शिवराज(shivraj) सरकार के फैसले के मुताबिक अब राज्य के हॉटस्पॉट क्षेत्र(Hotspot area)) में फंसे लोग भी ई-पास(E-pass) लेकर अपने घर वापस लौट सकेंगे। जिसके लिए राज्य शासन द्वारा नए निर्देश जारी किए गए हैं। अब इस आदेश के बाद भोपाल(bhopal), इंदौर(indore), उज्जैन(ujjain) जैसे रेड जोन(red zone) जिले से भी लोग अब अपने घर वापस लौट सकेंगे। जहां जिले की सीमा पर स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा लोगों की जांच की जाएगी।

दरअसल राज्य सरकार द्वारा जारी आदेश के बाद स्टेट कंट्रोल रूम के प्रभारी व अपर मुख्य सचिव आईपीसी केसरी ने बुधवार को ई- पास को लेकर नए निर्देश जारी किए हैं। जहां मध्य प्रदेश(mdhya pradesh) के विभिन्न जिलों में फंसे हुए लोग अपने घर वापस लौटने के लिए MAPIT पोर्टल(portal) पर अपने वाहन नंबर के साथ आवेदन कर सकते हैं। बता दें कि इससे पहले सरकार द्वारा जारी की गई ई-पास सुविधा राज्य के हॉटस्पॉट जिलों के लिए नहीं थी। जहां रेड जोन वाले इलाके से कोई भी व्यक्ति सफर नहीं कर सकता था। लेकिन राज्य सरकार के नियम में बदलाव के बाद अब लोग ई पास के जरिए प्रदेश के दूसरे जिले में जा सकेंगे। जिसके लिए उन्हें कलेक्टर की अनुमति लेनी होगी।

गौरतलब हो कि कोरोना महामारी की वजह से राज्य में लॉकडाउन ने के बाद शिवराज सरकार ने ई पास की घोषणा की थी। हालांकि तभी योजना गैर संक्रमित क्षेत्रों के लिए थी। वही अब रेड जोन में फंसे लोगों को भी सरकार द्वारा ई-पास की सुविधा दी जा रही है। हेलो की इस एप्स का उपयोग केवल एक बार की यात्रा के लिए ही किया जा सकेगा। वही सीमा पर पहुंचने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों की जांच की जाएगी। इसके साथ ही कोरोना के लक्षण दिखने पर उन्हें क्वॉरेंटाइन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here