बाजरे की खरीदी को लेकर शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, किसानों को मिलेगा लाभ

सचिव किदवई ने कहा है कि अभी तक 1 लाख 3 हजार 352 मीट्रिक टन खरीदी की जा चुकी है जबकि अनुमानित खरीदी का लक्ष्य 1 लाख 25 हजार मीट्रिक टन निर्धारित किया गया है।

सीएम शिवराज

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में किसानों (farmers) के लिए शिवराज सरकार (shivraj government) ने बड़ा फैसला लिया है। पंजीकृत किसानों (registered farmers) की बाजरे की तुलाई जब तक पूरी नहीं हो जाती तब तक खरीदी जारी रहेगी। वहीं पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर खरीदी केंद्र पर बाजरे की खरीदी की जाएगी। यह बात खाद एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई ने समीक्षा बैठक में कही है।

इसके साथ ही प्रमुख सचिव किदवई ने कहा है कि प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में बारदाना उपलब्ध है। जिससे बाजरा खरीदी में बारदाना की कमी नहीं आएगी। इसके साथ उन्होंने कहा कि किसानों को बाजरा की मात्रा की पर्ची अवश्य उपलब्ध करें और साथ ही साथ खरीदी के 3 दिन के भीतर किसानों के खाते में भुगतान की राशि पहुंचनी चाहिए।

Read More: MP News: आखिर भोपाल कलेक्टर ने क्यों कहा – दूल्हा दुल्हन को छूने से बचें

खाद एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के प्रमुख सचिव किदवई ने बाजरे की नमी को रोकने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। इसे साथ उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया है कि जिनका पंजीयन हो चुका है उनके बाजरे की तौल अवश्य खरीदी जाएगी और इसमें अंतिम तिथि मुसीबत नहीं बनेगी।

इसके साथ ही अहमद किदवई ने खरीदी के बाद बाजरे की धुलाई के बाद उसके भंडारण, ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था के निर्देश दिए है। प्रमुख सचिव अहमद किदवई ने कहा है कि अभी तक 1 लाख 3 हजार 352 मीट्रिक टन खरीदी की जा चुकी है जबकि अनुमानित खरीदी का लक्ष्य 1 लाख 25 हजार मीट्रिक टन निर्धारित किया गया है।