MP Politics : दाग पर गर्माई सियासत, Twitter पर आपस में भिड़े शिवराज-कमलनाथ

अब कमल नाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज के इस ट्वीट के जवाब ट्वीट से ही दिया है। कमल नाथ ने ट्वीट कर लिखा, "जो बेदाग़ थे वो बेदाग ही रहेंगे , इसकी गवाह तो वर्षों से ख़ुद जनता है और जिनके चेहरे दाग़दार है, वो हमेशा दाग़दार ही रहेंगे

कमलनाथ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में उप-चुनाव (By-election) से पहले आरोप प्रत्यारोप की राजनीति अपने चरम पर बनी हुई है। बिना अवसर चुके राजनेता एक दूसरे पर कटाक्ष करने का कोई भी मौका अपने हाथों से जाने नहीं दे रहें है। वहीं अब प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Former Chief Minister Kamal Nath) के बीच में ट्विटर वॉर (Twitter War) छिड़ गई है। जिसने प्रदेश की राजनीति का माहौल गर्मा दिया है।

दाग धूल नहीं सकते : शिवराज
दरअसल,  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( Shivraj Singh Chauhan) ने आज पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ (Kamal Nath) को सलाह देते हुए कहा कि कमल नाथ अपने आप को बेदाग कहना बंद करें। शिवराज ने ट्वीट कर लिखा था कि, “कमलनाथ जी कहते हैं कि वो बिलकुल बेदाग हैं! दाग बड़े गहरे हैं बेनकाब चेहरे हैं। शिवराज ने आगे लिखा कि अगर दुनियाभर के वाशिंग पाउडर (Washing Powder) भी यदि इस्तेमाल कर लिए जाएँ, तो भी वो दाग धुल नहीं सकते। उन्होंने कमल नाथ को सलाह देते हुए आगे लिखा कि, इसलिए कमलनाथ जी, आप खुद को बेदाग कहना बंद करें!”

अभी तक ऐसी मशीन नहीं बनी : कमल नाथ
वहीं अब कमल नाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज के इस ट्वीट के जवाब ट्वीट से ही दिया है। कमल नाथ ने ट्वीट कर लिखा, “जो बेदाग़ थे वो बेदाग ही रहेंगे , इसकी गवाह तो वर्षों से ख़ुद जनता है और जिनके चेहरे दाग़दार है, वो हमेशा दाग़दार ही रहेंगे, इसकी गवाह भी वर्षों से ख़ुद जनता है।” कमल नाथ ने आगे लिखा कि, “सही कहा आपने दाग़दार चेहरों के दाग दुनियाभर के वाशिंग पाउडर से भी धूल नहीं सकते। भाजपा की हर दागदार को बेदाग बनाने वाली वाशिंग मशीन में भी वो दाग धूल नहीं सकते और दुनिया भर में ऐसी कोई भी वाशिंग मशीन अभी तक नहीं बनी है जो इन दाग़दार चेहरों के गहरे दागो को धो सके।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 3 नवंबर को होने जा रहे 28 सीटों पर मतदान (Voting) के पहले प्रदेश में सियासी पारा जम कर उबाल मार रहा है। आरोप प्रत्यारोप की राजनीति इन दिनों मध्य प्रदेश में अपने चरम पर है। दोनों ही प्रमुख दल BJP और कांग्रेस (Congress) एक दूसरे पर कटाक्ष करने का कोई भी मौका चूक नहीं रही है। प्रदेश में अब नेताओं की राजनीति (Politics) विकास के मुद्दे से भटक कर आरोप-प्रत्यारोप की ओर बढ़ चली है। बीजेपी कांग्रेस दोनों ही दल सवालों के जरिए एक दूसरे की घेराबंदी में लगी हुई है।