शिवराज के मंत्री ने पढ़े “सिंधिया” की तारीफ के कसीदे, कहा- राहुल गांधी, कमलनाथ पर हो FIR

ग्वालियर ।अतुल सक्सेना

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने किसान कर्ज माफ़ी को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ धोखा करने और कर्जा माफ करने की घोषणा करने वाले राहुल गांधी और कमलनाथ के ऊपर FIR होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि झूठ बोलकर कोई एक बार सत्ता में आ सकता है सिंधिया की तारीफ करते हुए पटेल ने कहा कि सिंधिया और 22 विधायकों ने कांग्रेस को धक्का दिया था अब जनता उसे हमेशा के लिये धक्का दे देगी।

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के छोटे भाई के निधन पर शोक व्यक्त करने ग्वालियर आये प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कमलनाथ और कांग्रेस पर जमकर जुबानी हमला बोला। मीडिया से बात करते हुए कमल पटेल ने कहा कि कमलनाथ और उनकी सरकार ने किसानों, युवाओं, बेरोजगारों, महिलाओं सबके साथ धोखा किया झूठ बोला। और जब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने वादे पूरे करने के लिए कहा तो का दिया कि उतर जाओ सड़कों पर, कांग्रेस तो ऐसे ही चलेगी। इसलिए सिंधिया के साथ 22 विधायकों ने जिसमें 6 मंत्री भी थे कमलनाथ सरकार को धक्का दे दिया। कृषि मंत्री ने कहा कि आज कोई सरपंची से इस्तीफा नहीं दे सकता लेकिन इन मंत्रियों और विधायकों ने जो त्याग और बलिदान किया है मैं उसके लिए उनका और सिंधिया जी का धन्यवाद करना चाहता हूँ।

कमल पटेल ने कहा कि दिग्विजय सिंह ने तीन बार की सरकार मे प्रदेश को लूटा कमलनाथ ने 15 महीनों में लूट लिया और इसीलिए सिंधिया जी के साथ 22 विधायकों, मंत्रियों ने कांग्रेस सरकार को धक्का दे दिया। और अब चुनाव में जनता कांग्रेस को हमेशा के लिए धक्का देगी । उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब आत्महत्या कि तरफ बढ़ रही है, वो मध्यप्रदेश में कभी वापस नहीं लौटेगी। प्रदेश में लूट, भृष्टाचार, माफिया राज चल रहा था जिससे सिंधिया ने मुक्ति दिला दी।

किसान कर्ज माफी के सवाल पर बोलते हुए कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि कर्ज माफी का वादा हमने किसानों से नहीं किया कमलनाथ जी ने किया, कांग्रेस ने किया। उन्होंने किसानों से झूठ बोला। बीमा का पैसा कांग्रेस कि सरकार ने जमा नहीं किया उल्टा रिस्क को घटाकर 100 से 75 प्रतिशत कर दिया। शिवराज जी ने 2018 का बीमा का पैसा जमा कराया और अब 2019 का जमा करा रहे हैं। कांग्रेस ने प्रदेश के किसानों के साथ जो धोखा किया है उसके लिए कमलनाथ और राहुल गांधी दोनों के खिलाफ FIR होनी चाहिए। जब उनसे पूछा गया कि क्या आप पहल करेंगे तो उन्होंने कहा कि जब मैं विपक्ष में था तब मैंने हरदा विधायक के तौर पर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। और अब तो किसान भी प्राइवेट इस्तगासा लगा रहे हैं।