“सीटू”ने झण्डा फहराकर एवं रक्तदान कर मनाया मई दिवस, रखा सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान

ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

साम्राज्यवादी ताकतें पूरी दुनिया में मेहनतकश वर्ग का शोषण कर रहा है जिसके प्रतिवाद स्वरूप मेहनतकश वर्ग अपनी मुक्ति के लिए लगातार संघर्ष कर रहा है। इस वर्ष के मई दिवस पर कोरोना महामारी(corona pandemic) के कारण कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं हो सका । लेकिन सीटू ने अपने सभी कार्यालयों पर झण्डा फहराया एवं जिला कार्यालय पर रक्तदान कर कोरोना से पीड़ित मरीजों के लिए रक्तदान(Blood donation) किया ताकि प्लाज्मा(plasma) उनके इलाज में काम आ सके।

सीटू के जिला महासचिव कामरेड एमके जायसवाल ने बताया कि जिला कार्यालय पर सीटू का झण्डा जिला अध्यक्ष कामरेड कमलेश शर्मा ने फहराया। सीटू के प्रदेश अध्यक्ष रामविलास गोस्वामी ने कहा कि केन्द्र में बैठी भाजपा(BJP) सरकार द्वारा लगातार मजदूर विरोधी कानून बना रही हैं जिससे देश में लगातार मजदूरों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस कोरोना महामारी में जहां देश भर का मेहनतकश वर्ग करोड़ो की संख्या में अपने रोजगार छूट जाने के कारण दर-दर भटकने को मजबूर है। केन्द्र की मोदी सरकार की आज प्राथमिक जिम्मेदारी मजदूर वर्ग को राहत पहुंचाना होना चाहिए परन्तु इस समय भी मोदी सरकार देश के बड़े-बड़े उद्योगपतियों के कर्जे माफ कर रही है।

आज देश में कोविड-19(COVID-19) जैसी महामारी से लड़ रहे मेडिकल स्टाफ(medical staff), पुलिस स्टाॅफ(police staff) सहित सफाई कर्मचारियों को सुरक्षा(protection) के किट(kit) उपलब्ध नहीं हैं, वे अपनी जान जोखिम में डालकर अपने फर्ज को अंजाम दे रहे हैं, सीटू इन सभी जांजाबों को मई दिवस पर सलाम पेश करती है और सरकार से मांग करती है कि इनकी सुरक्षा के लिए आवश्क सामग्रियों की तत्काल व्यवस्था करे। सीटू कार्यालय पर झण्डा फहराने के बाद रक्तदान शिविर लगाया गया जिसमें रक्तदान करने वालों में अखिलेश यादव, प्रीति सिंह, युसूफ अब्बास, गालिब अली, बाबू कुरैशी, शमीम मोहम्मद, प्रकाश करौठिया, अमित सक्सेना, विक्रम कुशवाह, सन्नी कुशवाह, सगरदीप सहित अनेक साथियों ने रक्तदान किया। इस अवसर पर माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव कामरेड जसविंदर सिंह जी भी विशेष रूप से उपस्थित थे।