नहीं थम रही संक्रमण की रफ़्तार, मिले 542 पॉजिटिव, कोरोना की रडार पर ये इलाके

बता दे कि इंदौर बीते 10 दिन में 5 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज सामने आए है वही 10 दिनों में करीब 34 लोग अपनी जान गंवा चुके है। लंबे समय से चले आ रहे कोरोना संकट के बीच बीते 10 दिन के आंकड़े न सिर्फ रिकॉर्ड तोड़ है बल्कि हैरान कर देने वाले है।

पूर्व सांसद

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर के पश्चिम क्षेत्र में कोरोना का कहर किसी सैलाब से कम नजर नही आ रहा है यहां के दो क्षेत्र खातीवाला टैंक और उषा नगर एक्सटेंशन पहले से ही कंटेन्मेंट क्षेत्र घोषित किये जा चुके है वही कोरोना का सुदामा नगर में कहर जारी है। इसके अलावा स्कीम नम्बर 71, राजेंद्र नगर, पलसीकर कॉलोनी में भी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित सामने आए है। वही शहर के महालक्ष्मी नगर और स्नेहलतागंज में कोरोना का कहर व्याप्त है। फिलहाल, शहर में 5 क्षेत्र कंटेन्मेंट घोषित किये गए है और आने वाले समय मे यदि संक्रमण की गति बरकरार रहती है तो और भी क्षेत्र कंटेन्मेंट घोषित किये जा सकते है।

सोमवार को जारी किये मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक इंदौर में लगातार 10 वें दिन भी 500 से ज्यादा संक्रमित सामने आए है। सोमवार को जहां 542 नए पॉजिटिव मरीज मिले है वही 3 लोगो की मौत हो चुकी है। बता दे कि इंदौर बीते 10 दिन में 5 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज सामने आए है वही 10 दिनों में करीब 34 लोग अपनी जान गंवा चुके है। लंबे समय से चले आ रहे कोरोना संकट के बीच बीते 10 दिन के आंकड़े न सिर्फ रिकॉर्ड तोड़ है बल्कि हैरान कर देने वाले है। इधर, इंदौर में वर्तमान में करीब 4594 मरीजो का इलाज जारी है वही सोमवार को 245 मरीज ठीक होकर घर भी लौट चुके है।

Read More: थोड़ी राहत: प्रदेश में आज कोरोना के 1383 नए मरीज मिले, 10 संक्रमितों की मौत

फिलहाल, कोरोना से बचाव का एक बड़ा जरिया मास्क है। जिसे लगाने में लोग अभी भी लापरवाही बरत रहे है और इसी का परिणाम है कि निगम द्वारा लगातार ऐसे लोगो पर चालानी कार्रवाई कर रही है। इधर, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग लोगो से अपील कर रहा है कि स्थिति और न बिगड़े इस लिहाज से मास्क पहने, सोशल डिस्टेसिंग और सेनेटाइजर का इस्तेमाल या साबुन से हाथ धोने के नियमो का पालन करे।

कोरोना