पूर्व CM की हालत गंभीर, सिंधिया ने फोन कर जाना हाल

भोपाल/रायपुर।
छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी कोमा में चले गए है और उनकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई है
आठ डॉक्टरों की टीम अजीत जोगी के स्वास्थ्य पर नजर बनाए हुए है। डॉक्टरों के मुताबिक अजीत जोगी के ​लिए अलगे 72 घंटे बेहद अहम हैं, ऐसे में एक के बाद एक नेता उनके करीबियों को फोन लगाकर हाल जान रहे है।इसी कड़ी में एमपी के बीजेपी नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी फोन कर जोगी का हालचाल जाना।

सिंधिया ने फोन पर रेणु जोगी और अमित जोगी से बातचीत की और स्वस्थ होने की कामना की। वही बीजेपी नेता और राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंदकुमार साय ने भी जोगी के बेहतर स्वास्थ्य के लिए महामृत्युंजय मंत्र का जाप कर रहे हैं। इससे पहले नंदकुमार साय ने अमित जोगी से बातचीत कर तबीयत की जानकारी ली। नंदकुमार साय ने अमित से कहा कि दवा के साथ दुआ की भी अजीत जोगी को जरूरत है, इसलिए वो उनकी जिंदगी की सलामती के लिए महामृत्युंजय जाप शुरू कर रहे हैं। इसे लेकर साय ने बकायदा एक वीडियो संदेश भी जारी किया है। राजधानी एवं आसपास के नेताओं के अलावा पेंड्रा और मरवाही के लोग भी अस्पताल पहुंचे।

बता दें कि शनिवार सुबह नाश्ता के दौरान अजीत जोगी की तबीयत बिगड़ गई। दिल का दौरा पड़ने के बाद तुरंत रायपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। बेटे अमित जोगी ने मीडिया को जानकारी दी कि उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। अमित जोगी ने ट्वीट कर कहा ​कि पापा की तबियत बहुत गम्भीर है। ढाई करोड़ छत्तीसगढ़वासियों की प्रार्थनाओं और ईश्वर की इच्छा पर ही अब सब कुछ निर्भर है। वे एक योद्धा हैं। हम को पूर्ण विश्वास है कि वो जल्द ही,एक बार फिर इस परिस्थिति को हराकर स्वस्थ और अजेय होंगे। दवाओं के साथ उन्हें आपकी दुआओं की जरूरत है।जोगी लंबे समय से बीमार चल रहे है, इससे पहले भी कई बार जोगी की तबीयत खराब हो चुकी है। हाल ही उन्हें सांस लेने में तकलीफ के चलते गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद अजीत जोगी राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने थे। वर्ष 2000 से वर्ष 2003 तक वे राज्य के मुख्यमंत्री रहे। इस दौरान वे अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित मारवाही विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे। वर्ष 2003 में कांग्रेस जब भाजपा से पराजित हुई तब रमन सिंह राज्य के मुख्यमंत्री बने। अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी को जब कांग्रेस से निष्कासित किया गया था तब जोगी ने नई पार्टी का गठन कर लिया था। अभी वह जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के मुखिया हैं तथा मरवाही विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here