इन तीन राशि वालों की आज से बदलने वाली है किस्मत है, बनी रहेगी शनिदेव की कृपा दृष्टि

शनिदेव के नाराज़ होने पर व्यक्ति राजा से रंक बन जाता है, वहीँ शनिदेव के शुभ होने पर भाग्योदय निश्चित है। ज्योतिष के अनुसार ग्रहों का वक्री और मार्गी होना महत्वपूर्ण माना जाता है। वहीँ शनिदेव के कुंभ राशि में वक्री होने का लाभ कुछ राशियों को बहुत ज्यादा मिलता है। आइये जानते हैं –

धर्म, डेस्क रिपोर्ट। शनिदेव को ज्योतिष में विशेष स्थान प्राप्त है। इनके अशुभ प्रभावों से हर कोई भयभीत रहता है। लेकिन ऐसा नहीं है कि शनिदेव केवल अशुभ फल ही देते हैं। वे देवों की श्रेणी में आते हैं और मेहनती और आत्मनिर्भर लोगों को शुभ फल भी देते हैं। इनके शुभ प्रभाव से व्यक्ति का सोया भाग्य भी जाग जाता है। 5 जून से शनिदेव कुंभ राशि में वक्री होने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें – जब धर्मात्मा राज करते हे तो परमात्मा भी साथ देते है : डॉक्टर दुर्गेश केसवानी

क्या है वक्री?

ज्योतिष में ग्रहों का वक्री और मार्गी होना एक महत्वपूर्ण घटना मानी जाती है। अभी शनिदेव कुंभ राशि में वक्री हुए हैं, जो कुछ राशि वालों के लिए भाग्योदय का संकेत लेकर आया है। चलिए देखते हैं, शनिदेव के कुंभ राशि में वक्री होने के कारण किन राशियों पर होगा इसका शुभ प्रभाव –

मेष राशि –

इस दौरान आप शत्रुओं पर विजय प्राप्त करेंगे। शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। आर्थिक स्थिति पहले से बेहतर होगी। कार्यस्थल पर आपको मान-सम्मान प्राप्त होगा। स्वास्थ्य में सुधार होगा। वैवाहिक जीवन सुखद रहेगा। धन- लाभ होगा, जिससे आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।

यह भी पढ़ें – Astrology: कलाई की इन रेखाओं में छुपा है आपकी उम्र का राज, साथ ही जाने अमीर होने का सीक्रेट

कन्या राशि-

इस दौरान पारिवारिक रिश्तों में मधुरता बढ़ेगी। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। नौकरी की तलाश कर रहे लोगों की तलाश समाप्त होगी आत्मविश्वास बढ़ेगा। वैवाहिक जीवन मधुर रहेगा। आर्थिक पक्ष में सुधार होगा।

धनु राशि-

धन से जुड़े मामलों में विपदाएं दूर होगी। समाजिक प्रतिष्ठा मिलेगी। पद- प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी। किसी व्यापार में निवेश करने की सोच रहे हैं तो यह आपको सफलता दिलाएगा। यह समय लेन- देन के काम के लिए शुभ है।