प्रदेश में आई बाढ़ को लेकर पूर्व सीएम ने जताई चिंता, कहा- बचाव कार्य में लाई जाए तेजी

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में शुक्रवार से बारिश का दौर लगातार जारी है। लगातार बारिश के चलते प्रदेश के कई जिले बाढ़ की स्थिति से जूझ रहे है। बाढ़ आने से किसानों की फसले भी खराब हो गई है, जिसने शासन-प्रशासन के माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी है। वहीं आज प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई दौरा कर स्थिति का जायजा लिया।

बाढ़ की स्थिति देखते हुए प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने भी ट्वीट के जरिए चिंता जातई है। पूर्व सीएम ने ट्वीट में लिखा कि प्रदेश में अतिवर्षा का दौर जारी है। प्रदेश के 12 से अधिक ज़िले व 400 से अधिक गाँव बाढ़ की चपेट में है। नदियाँ उफान पर है। बाढ़ ने प्रदेश के कई हिस्सों को प्रभावित किया है। लोगों का भारी नुक़सान हुआ है। मैने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से इस पर चर्चा कर चिंता व्यक्त की है। दूसेर ट्वीट में पूर्व मुख्यमंत्री ने सीएम शिवराज से निवेदन करते हुए प्रभावित इलाक़ों में आपदा, राहत व बचाव के कार्य में तेज़ी लाने को कहा है। साथ ही डूब प्रभावित और निचले बसे इलाक़ों में विशेष ध्यान दिया जाने की भी बात कही है, जिससे कोई जनहानि ना हो। बाढ़ में फँसे लोगों को तेज़ी से निकाला जावे। वहां भी सुरक्षा के समुचित इंतज़ाम किये जावे।

 

 

पूर्व सीएम ने आगे लिखा कि  प्रभावित लोगों के रहने , खाने- पीने की समुचित व्यवस्था की जावे। पूरा प्रदेश , हम सभी , संकट की इस घड़ी में प्रभावित लोगों के साथ खड़े है। जिन इलाक़ों में अभी भी ख़तरा बना हुआ है , वहाँ विशेष चौकसी बरती जावे। पानी वाले पर्यटन स्थलों पर आवाजाही पर रोक लगायी जावे। आगे ट्वीट करते हुए पूर्व सीएम ने लिखा कि मैं प्रदेश भर के समस्त कांग्रेसजनो से भी अपील करता हूँ कि संकट की इस घड़ी में वे प्रभावित इलाक़ों में मुस्तैदी से जुट जावे। प्रशासन की टीम के साथ मिलकर राहत व बचाव कार्यों में मदद करे। प्रभावित लोगों के रहने , खाने- पीने की मदद करे।