किसान कर्ज माफी पर राजनीति कांग्रेस की आदत- नरोत्तम मिश्रा

narottam mishra slams congress

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। उपचुनाव(By-Election) से पहले मध्यप्रदेश(Madhyapradesh) में पार्टियों की तैयारियां जोरों पर है। कांग्रेस(Congress) लगातार किसान कर्ज माफी को लेकर बीजेपी पर हमलावर हो रही है। वहीं बीजेपी(BJP) भी लगातार पलटवार करते हुए 15 महीने की कमलनाथ सरकार(Kamalnath Government) की पोल खोलने से पीछे नहीं हट रही है। इसी पर बोलते हुए आज प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा(Narottam Mishra) ने कहा कि किसान कर्ज माफी पर राजनीति करने की आदत कांग्रेस की पुरानी रही है।

दरअसल प्रेस कॉन्फ्रेंस(Press Conference) में बोलते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि किसान को धोखा देना इस हाल में लाना और उसके ऊपर राजनीति करना यह सच में बेहद गलत काम है। किसानों के कर्ज माफी पर बोलते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस और राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने किसानों के लिए जो भाषण दिया था उस पर बीजेपी कार्य कर रहे हैं। मौत कोई हो दुखद होती है कैसी भी हो पीड़ा दायिक होती है ओर मौत के ऊपर राजनीति करना उससे भी ज्यादा पीड़ा दायिक हैं। कमलनाथ ने कभी यह ट्वीट नही किया की हमने औऱ हमारे नेता राहुल गांधी ने 10 दिनों में 2 लाख रुपये का कर्ज माफ का कहाँ था मगर हमने नहीं किया। कांग्रेस ने महज वाहवाही लूटी है।नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस किसानों के दो 2- 4 हजार रुपए कर्ज माफ कर अपने सर पर सेहरा बांध रही है। ये कार्य उचित नहीं।

उपचुनाव में अपनी सक्रियता पर बोले नरोत्तम

वही उपचुनाव में अपनी सक्रियता पर सवाल के जवाब में बोलते हुए मिश्रा ने कहा कि मैं कल भी सक्रिय था। मैं आज भी सक्रिय हूं। कार्यकर्ताओं के बीच में रहता हूं उनको सुनता हूं।बता दें कि उपचुनाव में नरोत्तम मिश्रा की सक्रियता को लेकर हमेशा सवाल उठ रहे हैं। जिस पर अब उन्होंने जवाब दिया है।

BJP कांग्रेसी नेता को पार्टी छोडने से कैसे रोक सकती है

कांग्रेस के नेताओं का लगातार पार्टी छोड़ बीजेपी में शामिल होने की जगह पर बोलते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वर्तमान में तो कांग्रेस में ना दृष्टि है और ना नेता सही। इसलिए कोई रुकना नही चाहता। ऐसे में अगर कोई नेता कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होता है तो बीजेपी उस नेता को कांग्रेस छोड़ने के लिए कैसे रोक सकती है।

सरकार में रहते पदयात्रा निकालते तो लाभदायक होता

वहीं दूसरी तरफ गोविंद सिंह की पदयात्रा पर बोलते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि आप अगर थोड़ा नेपथ्य पर चले जाएंगे। जब यह मंत्री थे। तब उन्होंने जनता से माफी मांगते हुए कहा था कि यह रेत का उत्खनन नहीं रोक पाए। अगर गोविंद सिंह ने उस वक्त पदयात्रा निकाली होती तो वह परिणामदायक होता।

जनता को बरतनी होगी सावधानी

कोरोना पर बोलते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह सच है कि जब से सावधानी हटी है। तब से कोरोना के संक्रमण तेजी से फैल रहे हैं पर सावधानी जनता को करना है। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी तरफ से कोरोना संक्रमण के बचाव में कोई कोताही नहीं बरत रही है।

वही सोमवार से मध्यप्रदेश में शुरू होने वाले 9वीं से 12वीं की ऑनलाइन क्लासेस के आदेश निरस्त होने के जवाब में नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि उन्हें अभी इस विषय पर ज्यादा पता नहीं है। इस मामले पर वह जल्द संज्ञान लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here