ऑरेंज जोन के इस जिले पर बढ़ा “लाल” होने का खतरा, स्टाफ नर्स सहित 5 की रिपोर्ट पॉजिटिव

मुरैना।संजय दीक्षित

जिला अस्पताल में बुधवार को आई जांच रिपोर्ट में पांच कोरोना पॉजीटिव(corona positive) और मिले हैं। इसमें दो नर्स के संक्रमित होने से कोरोना वार्ड में ड्यूटी कर रहे चिकित्सक सहित नर्सिंग स्टाफ काफी भयभीत हो गया है। चार पॉजीटिव पहले से जिला अस्पताल में भर्ती हैं। इनको मिलाकर कोरोना पॉजीटिवों की संख्या अब नौ हो गई है।

कोरोना पॉजीटिव में जिला अस्पताल की दो नर्से सहित 3 अन्य संक्रमित शामिल हैं। नर्सिंग स्टाफ के पॉजीटिव आने से जिला अस्पताल में हडक़ंप मच गया है। पॉजीटिव आए मरीज के साथ दो लोग और आए थे, वह अंबाह के रहने वाले थे।मरीज सीधा अस्पताल(hospital) पहुंच गया था, वह दोनों अपने घर चले गए। अब प्रशासन(administration) उन दोनों की तलाश में जुट गया है। वहीं एक मरीज अपने बेटे के साथ चार दिन पहले चेन्नई से भागकर आए थे। वहां भी ये दोनों पॉजीटिव थे। वहां से सूचना मिली तो पुलिस ने सख्ती दिखाई और ट्रक से इन दोनों को पकड़ लिया। सोमवार को इनके सेंपल लिए गए थे। जिनकी जांच रिपोर्ट(report) बुधवार को आई है।

जिला अस्पताल में चर्चा है कि नर्सिंग स्टाफ(nursing staff) को कोरोना से लडऩे के लिए पर्याप्त संसाधन उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं इसलिए ये दो नर्स कोरोना की शिकार हुई हैं।इससे पहले भी जिला अस्पताल के प्रशासन पर उंगलियां उठायी गयी लेकिन कोई परिणाम सामने नही आये हैं। चेन्नई से भागे मुरैना के दो लोग पॉजीटिव थे। यहां पुलिस ने पकड़े और जिला अस्पताल में उनको ले जाया गया। इसकी जानकारी न तो पुलिस और न प्रशासन के अधिकारियों ने दी। जब उनका मुरैना में दूसरी बार टेस्ट कराया तो उनकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई। इसके बाद बीती रात जिला प्रशासन ने माल गोदाम रोड और गणेशपुरा को सील कर दिया हैं।सभी के आने जाने पर पाबंदी लगा दी हैं।