नायब तहसीलदार के सामने दुकानदार ने खुद पर पेपर कटर से किया हमला, परिजनों ने प्रशासन पर लगाए गंभीर आरोप

नायब तहसीलदार, पटवारी, पुलिस कर्मियों और अन्य लोगों ने बहुत मुश्किल से दुकानदार के हाथ से पेपर कटर छीना इस दौरान पेपर कटर के हमले में एक पुलिस कर्मी भी घायल हो गया। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर (Gwalior News)में ओल्ड हाईकोर्ट के सामने एक किराये की दुकान खाली कराने गई प्रशासन की टीम के सामने उस समय हड़कंप मच गया जब कार्रवाई से आक्रोशित दुकानदार (shopkeeper)ने दुकान से पेपर कटर (paper cutter) उठाकर खुद पर ताबड़तोड़ हमला करना शुरू कर दिया।  कार्रवाई के दौरान मौजूद प्रशानिक अधिकारियों और पुलिस ने रोकने की कोशिश की और बड़ी मुश्किल से दुकानदार को रोका। हमले में दुकानदार घायल हो गया  साथ ही एक पुलिस कर्मी भी घायल हो गया।  पुलिस ने घायल को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया और पटवारी की शिकायत पर दुकानदार के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज कर लिया। उधर घायल दुकानदार के परिजनों ने प्रशासन और पुलिस पर दुकान मालिक से मिलीभगत के आरोप लगाए हैं।

जानकारी के मुताबिक एसडीएम झांसीरोड सीबी प्रसाद ने ओल्ड हाईकोर्ट के सामने स्थित एक शादी कार्ड की दुकान को खाली करने के निर्देश कुछ दिन पूर्व दिए थे। इस आदेश के पालन में नायब तहसीलदार पूजा मावई (Naib Tehsildar Pooja Mavai), पटवारी और इन्दरगंज थाना पुलिस (Gwalior Police) के फ़ोर्स के साथ दुकान खाली कराने गई। पुलिस और प्रशासन की टीम को देखकर दुकानदार नवीन प्रकाश गोयल भड़क गए और कार्रवाई का विरोध करने लगे।  प्रशासन की टीम ने आदेश के विरुद्ध कोई वैध दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए कुछ देर का समय दिया लेकिन दुकानदार मौके पर कोई दस्तावेज नहीं दिखा पाए और भड़क गए।  प्रशासन और पुलिस पर दुकान मालिक मित्तल परिवार के साथ मिलीभगत के आरोप लगाते हुए उन्होंने दुकान में से पेपर कटर उठाया और खुद पर ताबड़तोड़ हमले करना शुरु कर दिए, उनके शरीर से खून बहने लगा , दुकानदार ने गर्दन, हाथ, पेट कई जगह पेपर कटर से हमला किया जिससे खून बहने लगा।

ये भी पढ़ें – डेंगू से पीड़ित श्योपुर के नायब तहसीलदार की ग्वालियर में हुई मौत!

दुकानकार द्वारा अचानक खुद पर हमला करने से प्रशासन की टीम भौचक रह गई। नायब तहसीलदार, पटवारी, पुलिस कर्मियों और अन्य लोगों ने बहुत मुश्किल से दुकानदार के हाथ से पेपर कटर छीना इस दौरान पेपर कटर के हमले में एक पुलिस कर्मी भी घायल हो गया।  पुलिस ने तत्काल घायल को अस्पताल भिजवाया।

ये भी पढ़ें – ड्रोन से नैनो तरल यूरिया के छिड़काव का प्रदर्शन, MP और Haryana के कृषि मंत्री ने लिया जायज़ा

उधर घायल दुकानदार नवीन किशोर गोयल के भाई प्रवीण किशोर गोयल ने हमले का आरोप प्रशासन की टीम और पुलिस  पर लगाते हुए एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, पटवारी, पुलिस पर दुकान मालिक मित्तल परिवार  के साथ मिलीभगत के आरोप लगाए।  प्रवीण ने कहा कि हम 35 साल से किरायेदार हैं और बिना कोई सूचना दिए दिवाली वाले दिन एसडीएम ने दुकान खाली करने के आदेश दे दिए।  उन्होंने प्रशासन और पुलिस पर उनके भाई पर चाकू से हमला करने के आरोप लगाए।

ये भी पढ़ें – MP के दौरे पर ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुब्बाराव को श्रद्धांजलि देने जायेंगे जौरा गांधी आश्रम

घायल दुकानदार के भाई  के आरोपों को इंदरगंज थाना टीआई ने नकार दिया।  उन्होंने बताया कि एसडीएम के अतिक्रमण हटाने के आदेश के पालन में नायब तहसीलदार पूजा मावई  और पटवारी थाने आये थे उन्हें फ़ोर्स दिया गया। वे कार्रवाई शुरू करते इसी बीच दुकानदार ने खुद पर पेपर कटर से हमला करना शुरू कर दिया , बीचबचाब में एक पुलिस कर्मी भी घायल हो गया है।  पुलिस ने पटवारी की शिकायत पर दुकानदार नवीन प्रकाश गोयल के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज किया है।