अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली टीम करेगी मुरैना जहरीली शराब कांड की जांच

समिति का अध्यक्ष गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा को बनाया गया है जबकि एडीजीपी ए साईं मनोहर और डीआईजी मिथिलेश शुक्ला को समिति का सदस्य बनाया गया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मुरैना (Morena) में जहरीली शराब (Poisonous liquor) पीने से अब तक 22 ग्रामीणों की मौत हो चुकी है। वहीँ मुरैना और ग्वालियर के अस्पतालों में अभी भी कई लोगों का इलाज जारी जारी है, मुरैना जिला प्रशासन से लेकर सरकार तक इस पर पैनी नजर रखे हुए है। सरकार ने पूरी घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति बना दी है जो पूरे घटनाक्रम की जाँच कर राज्य शासन को रिपोर्ट देगी।

इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर मुरैना जिले के बागचीनी थाने में पदस्थ सभी पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से हटाया गया है। बागचीनी थाने के अंतर्गत जिस बीट में जहरीली शराब का निर्माण हो रहा था उस बीट के सभी पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) के निर्देश के बाद राज्य शासन ने मुरैना जहरीली शराब कांड (Morena Poisonous Liquor Scandal) में हुई मौतों की जांच के लिए उच्च स्तरीय समिति गठित की है। समिति का अध्यक्ष गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा (Additional Chief Secretary Rajesh Rajaura) को बनाया गया है जबकि एडीजीपी ए साईं मनोहर (ADGP A Sai Manohar) और डीआईजी मिथिलेश शुक्ला (DIG Mithilesh Shukla)को समिति का सदस्य बनाया गया है। सूत्रों की माने तो कमेटी आज रात भोपाल से मुरैना के लिए रवाना होगी और गुरुवार को  पीड़ित परिवारों से मिलकर पूरे घटनाक्रम को समझेगी उसके बाद रिपोर्ट बनाकर राज्य शासन को देगी। गौरतलब है मुरैना जहरीली शराब कांड (Morena Poisonous Liquor Scandal) से प्रभावित अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है,इस आंकड़े के अभी और बढ़ने की सम्भावना है।

गौरतलब है कि मंगलवार को मुरैना (Morena) में जहरीली शराब (Poisonous liquor) पीने से हुई मौतों को प्रदेश की शिवराज सरकार (CM Shivraj government) ने गंभीरता से लिया है। घटना के बाद  बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री निवास पर एक बड़ी बैठक बुलाई जिसमें गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा  (Dr. Narottam Mishra के साथ-साथ मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह राजेश राजौरा सहित कई बड़े पुलिस अधिकारी आबकारी मंत्री जगदीश देवड़ा (Jagdish Deora) व आबकारी विभाग (Excise Department) के आयुक्त शामिल हुए ।

बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने लापरवाही बरतने के चलते मुरैना कलेक्टर अनुराग वर्मा (Morena Collector Anurag Varma ) और एसपी अनुराग सुजानिया (Morena SP Anurag Sujania) को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। वही एसडीओपी (Morena SDOP) को भी निलंबित करने का निर्णय लिया गया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan)  ने कहा मुरैना की घटना अमानवीय और तकलीफ पहुंचाने वाली है। मिलावट के विरुद्ध अभियान संचालित है,फिर भी घटना दुखद है। कलेक्टर और एसपी हटाने के निर्देश दिए है । पूरे मामले की जांच होगी, ऐसे मामलों में अगर कलेक्टर एसपी दोषी होंगे, एक्शन लिया जाएगा। मैं मूक दर्शक नहीं रह सकता। प्रदेश में अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा ।आबकारी अमला पर्याप्त हो। रिक्त पद भरें,शराब व्यवसाय पर कड़ी निगरानी हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here