शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य के इस फरमान से शिक्षकों में खासा आक्रोश

जबलपुर।संदीप कुमार

कोरोना काल मे मिली छूट को देखते हुए शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रचार्य ने फरमान जारी कर सभी कार्यालय कर्मचारी और शिक्षकों को संक्रमण काल मे बुला लिया है जिसको लेकर शिक्षको में इस आदेश के प्रति आक्रोश है।हालांकि शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रचार्य का कहना है कि सरकार के निर्देशों पर ही शिक्षको को महाविद्यालय में बुलवाया गया है।

शिक्षको ने प्रचार्य के आदेश का किया विरोध

शासकीय इंजीनियरिंग कालेज में पदस्थ शिक्षक सुनील कुमार का कहना है कि कोरोना काल मे सरकार के जो आदेश है वो कार्यालीन कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए है न कि शिक्षकों के लिए। बावजूद इसके प्रचार्या महोदय ने एचओडी को फरमान जारी किया है कि सभी शिक्षको को बुलाया जाए।

शिक्षको के साथ छात्रों का आना भी हुआ शुरू,संक्रमण फैलाने का डर

शिक्षक सुनील कुमार की माने तो संक्रमण को देखते हुए शैक्षणिक संस्थाएं में अगर स्टाफ और शिक्षक आते है तो निश्चित रूप से छात्र भी आएंगे ऐसे में महाविद्यालय में कोरोना संक्रमण फैलने का हमेशा खतरा बना रहेगा।

प्रचार्या ने कहा कि शासन के आदेश पर सभी को बुलाया गया है

शिक्षको ने कोरोना काल में महाविद्यालय बुलाने का जहाँ विरोध किया तो वही प्रचार्य एसके ठाकुर ने शासन के आदेश का हवाला दिया है हालांकि जब हमने आदेश की कापी प्रचार्या से मांगी तो उन्होंने देने से मना कर दिया।बहरहाल प्रचार्या के तुगलकी फरमान से शिक्षक और प्रचार्या में ठनी हुई है।