सोशल डिस्टेन्स का पालन न करने वालों के लिए पुलिस ने अपनाया ये तरीका, उल्लंघन किया तो जाएंगे जेल

जबलपुर।संदीप कुमार।

जबलपुर जिले में बीते 21 मांर्च से लगातार लॉकडाउन है। शहर के ज्यादातर लोग जिला प्रशासन के निर्देशों का पालन करते हुए घरों पर ही है। पर कुछ लोग ऐसे भी जो की लाख हिदायत के बाद भी बिना कारणों के शहर में तफरी कर रहे है।ऐसे लोगो के खिलाफ अब पुलिस ने सख्त रवैया अपनाना शुरू कर दिया है। लॉकडाउन पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु अब सभी थाना प्रभारियों को ‘‘लाल पुलिस चेतावनी पत्र, पीत पुलिस चेतावनी पत्र एवं हरित पुलिस चेतावनी पत्र’’ दिये जाएंगे।

जबलपुर पुलिस अधीक्षक अमित सिंह की माने तो 21 मार्च से चले आ रहे लाॅक डाउन में शहरवासियों ने पुलिस एवं प्रशासन का पूरा सहयोग किया है। धैर्य और अनुशासन का परिचय दिया है,सोशल डिस्टैंसिंग मैन्टेन किया है और पर्सनल हाईजीन पर भी आप फोकस कर रहे हैं लेकिन यह भी देखा गया है कि कुछ इलाकों में सोशल डिस्टैंसिंग का वायलेशन हो रहा है जो सामाजिक दूरी होनी चाहिये वो लोग फाॅलो नहीं कर रहे हैं। कुछ दुकानदार इसको फाॅलो नहीं कर रहे है, सोशल डिस्टैंसिंग मैन्टेन नही करवा रहे है और पर्सनल हाईजीन भी नही रख रहे हैं। इसके साथ ही साथ फोर व्हीलर टू व्हीलर पर रोक लगाई गयी है। आवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मियों एवं व्यक्तियों को अनुमति दी गयी है लेकिन बिना अनुमति वाले भी मिल रहे हैं। जिस पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु अब सभी थाना प्रभारियों को ‘‘लाल पुलिस चेतावनी पत्र, पीत पुलिस चेतावनी पत्र एवं हरित पुलिस चेतावनी पत्र’’ दिये जाएंगे।

बिना अनुमति के अकारण घर से बाहर निकलकर घूमने वालों को लाल पुलिस चेतावनी पत्र, एवं आवश्यक वस्तुओं की दुकानों के अतिरिक्त अन्य दुकान खोलने वालों को पीत पुलिस चेतावनी पत्र तथा बिना वैधानिक अनुमति के वाहन परिवहन करने वालों को हरित चेतावनी पत्र देकर सचेत किया जाये। सचेत किये जाने के बाद भी यदि पुनः एैसा कृत्य किया जाता है तो ऐसे लोगो के खिलाफ भारतीय दण्ड विधान की विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही करते हुये उन्हे जेल भेज जायेगा। लाल-पीले और हरे कार्ड मिलेंगे पुलिस प्रशासन का उल्लंघन करने वालो को-पहली बार नही माने तो दूसरी बार जेल जाएंगे।