खुले में रखे हजारों क्विंटल गेहूं परिवहन के इंतजार में, नहीं मिल रहे वाहन

सीहोर।अनुराग शर्मा

इस बार शासन द्वारा किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदा गया गेहूं खुले में रखे होने से बार-बार भीग रहा है, जिसे परिवहन कर दूसरे जिले में एक सप्ताह से परिवहन करने की तैयारी की जा रही है, लेकिन ट्रक नहीं मिलने से गेहूं परिवहन के इंतजार में पड़ा हुआ है। हालांकि श्यामपुर क्षेत्र में पड़ा हजारों क्विंटल गेहूं को परिवहन करने के लिए भोपाल-ब्यावरा रोड सहित फंदा टोल पर खाली ट्रकों को रोककर परिवहन के लिए अधिग्रहण किया जा रहा है, लेकिन ट्रक संचालक तैयार नहीं हो रहे हैं, जिससे हजारों क्विंटल गेहूं खराब होने की कगार पर पहुंच गया है। इसी तरह आष्टा व अन्य क्षेत्रों में भी गेहूं परिवहन नहीं होने व सुरक्षित स्थान पर नहीं पहुंचने से खराब हो चुका है।

इस बार लक्ष्य से अधिक खरीदी होने व गेहूं रखने की जगह नहीं होने से 50 हजार टन गेहूं बारिश में भीग गया, जिसे परिवहन करने के लिए प्रशासन ने कमर तो कस ली, लेकिन वाहन नहीं मिलने से यह गेहूं बार-बार बारिश में भीगकर खराब हो रहा है। गेहूं को श्यामपुर व अहमदपुर मंडी परिसर में रखने की व्यवस्था कराई गई है, लेकिन दोनों मंडियां फुल होने के बाद रायसेन जिला के मंडी क्षेत्र में रखने के लिए परिवहन कर गेहूं को भेजा जा रहा है, लेकिन वाहन नहीं मिलने से यह गेहूं परिवहन नहीं हो पा रहा है। हालांकि इस गेहूं को भीगने से बचाने के लिए कर्मचारी लगे हुए हैं, लेकिन खेतों में पड़े गेहूं को परिवहन के लिए अधिग्रहित किए गए वाहन मिट्टी गीली होने के कारण वहां तक नहीं पहुंच रहे हैं। इससे वह मुख्य मार्गों पर खड़े हुए हैं। वहीं हाइवे पर राजस्व अमला ट्रकों को अधिग्रहण करने में लगा हुआ है, लेकिन खाली वाहन नहीं मिलने व वाहन मालिकों के तैयार नहीं होने से समस्या आ रही है।

ट्रैक्टर-टालियों से कर रहे परिवहन

बार-बार बारिश होने व खेतों में बने केंद्रों तक ट्रक नहीं पहुंचने के कारण अब गेहूं का परिवहन करने के लिए ट्रैक्टर-ट्रालियों को लगाया गया है, लेकिन बारिश में भीग चुके गेहूं के बारदाने भी खराब हो चुके हैं, जिन्हें हम्मालों द्वारा बदला जा रहा है, जिसमें गेहूं भी खराब हो चुका है। ऐसे में वह बदबू मार रहा है, जिसे साफ किया जा रहा है। इसमें समय अधिक लग रहा है।

इन केंद्रों पर अभी भी परिवहन के लिए रखा गेहूं

क्षेत्र के खाईखेड़ा सोसाइटी के रसूलपुरा खरीदी केंद्र पर करीब पांच से छह हजार क्विंटल गेहूं परिवहन के लिए रखा है, वहीं क्षेत्र के चरनाल, छतरपुरा दोनों खरीदी केंद्र पर करीब ढेड़ सौ क्विंटल गेहूं परिवहन होना है। जबकि बैरागड़ खुमान में करीब 50 क्विंटल सहित मित्तूखेड़ी, दोराहा, चांदबढ़ जागीर, गणेश वेयर हाउस पर परिवहन के लिए गेहूं रखा हुआ है।

किया जा रहा है परिवहन

एसडीएम सीहोर आदित्य जैन ने कहा है कि लगातार ट्रकों का अधिग्रहण कर गेहूं परिवहन कराया जा रहा है। पूरा राजस्व अमला इस कार्य में जुटा हुआ है, लेकिन खेतों में बने केंद्रों की मिट्टी गीली होने के कारण ट्रक मौके पर नहीं पहुंच पा रहे है, जिससे थोड़ी परेशानी हो रही है। जल्द ही गेहूं का परिवहन कर लिया जाएगा।