ट्रांसफर फर्जीवाड़ा : क्राइम ब्रांच ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया, अहम दस्तावेज बरामद

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल सांसद समेत 3 सांसदो और एक विधायक के नाम से सीएम हाउस भेजी गई नकली ट्रांसफर की नोटशीट मामले में क्राइम ब्रांच ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस को कई अहम दस्तावेज भी मिले हैं।

करोड़ों का आसामी निकला CMHO कार्यालय का बाबू, लोकायुक्त की छापेमार कार्रवाई

दरअसल राजधानी भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (pragya singh thakur) समेत तीन सांसद (MP) और विधायक (MLA)  की अनुशंसा पर ट्रांसफर की फर्जी नोटशीट (fake notesheet) सीएम हाउस (cm house) तक पहुंच गई थी। इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने भी चिंता जताई थी। मामले की जांच भोपाल क्राइम ब्रांच (bhopal crime branch) को सौंपी गई जिसके बाद अब क्राइम ब्रांच ने शातिर आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों के नाम रामप्रकाश राही, कैलाश यादव, राम कृष्ण राजपूत और दशरथ राजपूत हैं।

इस मामले में सीएम हाउस प्रशासन की ओर से शक होने पर जांच की गई थी और इसके बाद मामला क्राइम ब्रांच को सौंपा गया। इस फर्जीवाड़े में कुल 27 लोगों के ट्रांसफर को लेकर नोटशीट लिखी गई थी जिसमें सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर, महेंद्र सिंह सोलंकी, रोडमल नागर और विधायक रामपाल सिंह के नाम का उपयोग किया गया था। ये फाइल डिप्टी सेक्रेटरी ‌स्तर पर बढ़ चुकी थी। सीएम कार्यलय की शिकायत और फर्जी नोटशीट के आधार पर अब भोपाल क्राइम ब्रांच ने ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच के हाथ कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज भी लगे हैं। आरोपी के सूटकेस में फर्जी नोटशीट, डाक्यूमेंट्स, विधायकों के लेटर पैड, प्रिंटर मशीन, लैपटॉप, हार्ड डिस्क, कंप्यूटर आदि मिले हैं।