दो नए वैक्सीन को मिली इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी, कोरोना की लड़ाई में भारत एक और कदम आगे

इस दवा का इस्तेमाल देश में 13 कंपनियों द्वारा कोरोना के रोगियों के इलाज के लिए आपातकालीन स्थिति में उपयोग के लिए किया जाएगा।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना की लड़ाई में भारत के हाथ बड़ी सफलता लगी है दरअसल भारत सरकार ने दो नए वैक्सीन को मंजूरी दी है। इसके बाद कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) की दुनिया में भारत के कदम और दृढ़ हो गए हैं। दरअसल स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh mandaviya) ने मंगलवार को जानकारी दी कि केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) ने कोवोवैक्स (COVOVAX) और कॉर्बेवैक्स नामक दो अन्य कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (EUA) को मंजूरी दी गई है।

मंडाविया ने ट्विटर पर कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग में ये सभी वैक्सीन महामारी के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को और मजबूत करेंगी। भारत वैक्सीन के मामले में और मजबूत हो रहा हैं। जिसपर अब सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने पीएम मोदी (PM Modi) का आभार जताया हैं।

सीएम शिवराज ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व करने के लिए आपका बहुत धन्यवाद पीएम।Corbevax और Covovax के टीकों और एंटी-वायरल दवा मोलनुपिरवीर को मंजूरी एक बड़ा कदम है। अब हमारे पास 8 अधिकृत कोरोना टीके हैं। यह हमारी आपातकालीन प्रतिक्रिया को बढ़ाएगा और कीमती जीवन बचाएगा।

Read More : आईपीएस अधिकारियों का तबादला, देखिए जारी सूची

दरअसल मनसुख मंडाविया ने ट्विटर पर कहा कि एक एंटी-वायरल दवा मोलनुपिरवीर को भी आपातकालीन स्थिति में प्रतिबंधित उपयोग के लिए मंजूरी दी गई है। CORBEVAX RBD प्रोटीन सब-यूनिट वैक्सीन है और इसे बायोलॉजिकल-ई द्वारा बनाया जाएगा। वहीँ COVOVAX एक नैनोपार्टिकल वैक्सीन हैं। जिसे सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा निर्मित किया जाएगा। वहीँ मोलनुपिरवीर (Molnupiravir) एक एंटीवायरल दवा (antiviral drug) है।

इस दवा का इस्तेमाल देश में 13 कंपनियों द्वारा कोरोना के रोगियों के इलाज के लिए आपातकालीन स्थिति में उपयोग के लिए किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट कर बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सामने से कोरोना के खिलाफ लड़ाई का नेतृत्व किया है और इसमें सफलता हासिल की हैं।