उज्जैन: मजदूरों की मौत पर सख्त सीएम शिवराज, दिए ये निर्देश

सीएम शिवराज ने बैठक में कहा कि कई स्थानों पर ऐसे नशीली वस्तुओं का व्यापार हो रहा है। जल्द से जल्द इसका पता लगाया जाए और ऐसे लोगों को नेटवर्क को तोड़ा जाए।

मजदूरों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश(Madhya pradesh) के उज्जैन(ujjain) शहर में बुधवार को संदिग्ध अवस्था में 7 मजदूरों की मौत से सनसनी फैल गई है। जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने बड़ी बैठक करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। उच्च स्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दोषियों को किसी कीमत भी छोड़ा नहीं जाएगा।

दरअसल उज्जैन में जहरीली शराब से 7 मजदूरों की मौत मामले में अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त तेवर अख्तियार किए हैं। अधिकारियों के साथ ऊंची बैठक करते हुए आज सीएम शिवराज ने घटना की एसआईटी जांच कराने के निर्देश दिए हैं। साथ ही दोषी अधिकारियों को निलंबित करने के भी निर्देश दिए।

सीएम शिवराज ने बैठक में कहा कि कई स्थानों पर ऐसे नशीली वस्तुओं का व्यापार हो रहा है। जल्द से जल्द इसका पता लगाया जाए और ऐसे लोगों को नेटवर्क को तोड़ा जाए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नशीली पदार्थ बेचने वाले को कड़ी से कड़ी सजा मिले और साथ ही गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव को मामले की जांच रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़े:  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया सड़कों का ई-लोकार्पण, प्रवासी मजदूरों के लिए कही यह बड़ी बात

बता दें कि उज्जैन शहर में बुधवार को एक घटना से सनसनी फैल गई। जब अलग-अलग समय में शहर के अलग-अलग स्थानों पर 7 मजदूरों के शव मिले। जहां तड़के सुबह दो मजदूरों के साथ सड़क किनारे मिले थे। वहीं दोपहर में दो और मजदूर के शव मिले। शाम को पुलिस द्वारा तीन और शव बरामद किए गए थे।

उज्जैन में रहकर मजदूरी करने वाले शंकर लाल उम्र 40 वर्ष निवासी पिपलोदा बागला  और विजय उम्र 45 वर्ष ने  निवासी नागदा  सहित  बबलू  यादव ४० वर्ष , बद्रीलाल 65  सहित तीन अन्य की कल  छतरी चोक  और आसपास के अन्य इलाको  पर लाश मिली। इसके अलावा निनोरा निवासी एक अन्य बुजर्ग गोपाल मंदिर के सामने बदहवास मिला। जिसने बताया कि कहार वाड़ी में शंकर नामक युवक से पोटली खरीदी थी और अधिकतर मजदूर वर्ग वंही से खरीद कर पोटली कच्ची  शराब का सेवन करता है। संभवत जिन सभी 7 मजदूरों की मौत हुई है उन  ने भी पोटली शराब पी थी। जिसकी वजह से  एक साथ 11  की मौत और दो लोग बेहोश हो गए। फिलहाल मोके पर पंहुची खाराकुवा पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए पंहुचाया है। अभी तक 11  की मौत हो चुकी है। दो अन्य को अस्पताल भिजवाकर उपचार दिया जा रहा है। फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण पता चल पाएगा।

उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में जहरीले झिंजर पीने की पुष्टि हुई है। पुलिस ने कल रात से कार्यवाही में अभी तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसमें मुख्य रुप से जिंजर बनाने वाले सिकंदर गबरू और यूनुस हैले को गिरफ्तार किया है। यह छतरी चौक स्थित नगर निगम की मल्टी लेवल पार्किंग में अवैध रूप से जिंजर पोटली बनाकर मजदूरों को बेचा करते थे। उज्जैन पुलिस ने पूरे जिले में अवैध रूप से बन रही शराब माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करना शुरू की है लेकिन मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। लाशों का पीएम करने वाले डॉक्टर ने भी पुष्टि की है कि पीएम के बाद विषय में शराब की पुष्टि हुई है।

उज्जैन जहरीली शराब पोटली पिने से अभी तक उज्जैन में 11 की मौत हो गई है।  सभी घटकों के शरीर में जहरीली झिंजर पाई गई। उज्जैन एसपी ने की कार्रवाई खारा कुआं थाना प्रभारी सहित चार को निलंबित किया है। पूरे जिले में अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई जारी है।

MP Breaking NewsMP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here