केंद्रीय कृषि मंत्री तोमर का हमला, “विपक्ष किसानों को गुमराह करने का काम कर रहा है”

सिंधिया ने किसान बिल पर बोलते हुए कहा कि असली मायने में यह किसानों के लिए आर्थिक आजादी का कानून है। तीनों ही बिल किसानों के समर्थन में हैं

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। किसान सम्मेलन (Farmers conference)  में शामिल होने ग्वालियर पहुंचे केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar)और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)ने तीनों कृषि बिलों को किसानों के हित के कानून बताया। उन्होंने कहा कि आंदोलन का हल जल्दी ही निकलेगा। नेताओं ने कहा कि विपक्ष किसानों को गुमराह करने का प्रयास कर रहा है जिसमें वो सफल नहीं होगा।

ग्वालियर के महाराजपुरा एयर पोर्ट (Maharajpura Air Port) पर पत्रकारों से बात करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि आंदोलन के बीच किसानों से लगातार बातचीत चल रही है जल्द ही इसका हल निकलेगा और आंदोलन खत्म होगा। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल देश भर में किसानों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन इसमें वे सफल नहीं होंगे। देशभर के किसान इस बिल का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं। केवल पंजाब में ही इसका विरोध नजर आ रहा है। उसके पीछे बहुत सारे कारण हैं। किसान संगठन केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर विचार कर रहे है। निश्चितरूप से जल्द हल निकलेगा।

ये किसानों की आर्थिक आजादी का कानून:सिंधिया

केंद्रीय मंत्री तोमर के साथ ग्वालियर पहुंचे सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किसान बिल पर बोलते हुए कहा कि असली मायने में यह किसानों के लिए आर्थिक आजादी का कानून है। तीनों ही बिल किसानों के समर्थन में हैं। उन्होंने कहा कि ये बिल 21वीं सदी में किसानों के आर्थिक समृद्धि का कदम है। कृषि के क्षेत्र में इस बिल के आने से नई क्रांति आएगी। जिससे किसानों को लाभ मिलेगा।