कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग ने कांग्रेस पर लगाए आरोप, पूर्व मंत्री को बताया झुग्गी माफिया!

विश्वास सारंग ने कहा कि कांग्रेस सरकार में मनमानी करने वाले ऐसे माफियाओं के खिलाफ शिवराज सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है।

ि

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya pradesh) में अवैध भूमाफिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। कंप्यूटर बाबा, आरिफ मसूद के अवैध कब्जे पर कार्रवाई के बाद अब भोपाल रेलवे स्टेशन के सामने ईरानी डेरे पर प्रशासन की कार्रवाई जारी है। इसी बीच शिवराज सरकार (shivraj government) में कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग का बड़ा बयान सामने आया है। कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग (vishwas sarang) ने कहा है कि कांग्रेस सरकार (congress government) में भू-माफियाओं को पनाह मिला था। जिस पर अब शिवराज सरकार कार्रवाई कर रही है। वहीं सारंग (Sarang) ने पूर्व मंत्री पीसी शर्मा (PC Sharma) को “झुग्गी माफिया” कहा है।

कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि सरकारी जमीन पर कब्जा करने वाले के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को लेकर किसी भी तरह का समझौता मध्यप्रदेश में नहीं किया जाएगा। इतना ही नहीं कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग ने भू-माफियाओं को संरक्षण देने का इल्जाम कांग्रेस नेताओं पर लगाया है।

दरअसल मीडिया से बात करते हुए कैबिनेट मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि पी सी शर्मा जैसे नेता गुंडे बदमाशों को संरक्षण देते हैं। विश्वास सारंग ने कहा कि कांग्रेस सरकार में मनमानी करने वाले ऐसे माफियाओं के खिलाफ शिवराज सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है।

Read More: MP Politics : उमा भारती का बड़ा बयान, कांग्रेस बोली-एक बार फिर सच्चाई उगल दी

वहीं लव जिहाद (Love Jihad) कानून पर बोलते हुए मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि लव जिहाद को प्रोत्साहित करने वाले के खिलाफ भी कानून बनना चाहिए। ताकि समाज को ऐसे गतिविधियों से बचाया जा सके। दूसरी तरफ कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) के ट्रायल (Trial) पर बोलते हुए मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि शिवराज सरकार की पूरी तैयारी है। केंद्र सरकार के निर्देश पर वैक्सीन के रखरखाव की व्यवस्था भी की जा रही है। उम्मीद है कि जल्द वैक्सीन का ट्रायल सफल हो जाएगा।

वहीँ इससे पहले गुरुवार को कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन (COVAXIN) की पहली खेप भोपाल पहुंच गई थी। जहां गुरुवार को प्रदेश के पहले शिक्षक वॉलेंटियर्स को कोवैक्सीन (COVAXIN) का पहला डोज दिया जाएगा। बता दें कि भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज (Gandhi Medical College) और एक निजी अस्पताल में तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल (3rd Phase clinical trial) के लिए कोवैक्सीन की पहली खेप पहुंची है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here