अनोखा मामला: 14 साल के वनवास के बाद वापस एक हुए पति-पत्नी, फिल्मों की तरह रही कहानी

सरिता राजानी ने बताया कि पति-पत्नी के बीच में किसी तरह का कोई विवाद नहीं होने के बावजूद परिवार के चलते दोनों अलग हो गए। उन्होंने बताया कि आज 14 साल बाद फिर से दोनों एक हो गए है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शादी (Marriage) को पति-पत्नी (Husband-Wife) के बीच सात जन्मों का अटूट बंधन माना जाता है। जो अपनेपन (Belongingness) और प्यार (Love) का एक पवित्र रिश्ता (Pure Relation) होता है। लेकिन कभी-कभी इतने पवित्र और अटूट रिश्तों को भी नज़र लग जाती है, और पति-पत्नी के रिश्तों में कई बार दरार पड़ जाती है। अमूमन यह दरार किसी तीसरे व्यक्ति के कारण ज्यादा आती है।

बिछड़ कर वापस एक हुए

भोपाल (Bhopal) के एक पति-पत्नी के बीच यह दरार किसी तीसरे व्यक्ति के कारण नहीं बल्कि ‘संगीत’ (Music) के कारण आई। और दोनों के रिश्तों में दरार ऐसी पड़ी की सात जन्मों तक चलने वाला रिश्ता शादी के एक साल तक ही चल पाया। दोनों के अलग होने के बाद किसी ने नहीं सोचा होगा की दोनों फिर से एक होंगे। लेकिन वो कहते है न “उसे कोई छीन नहीं सकता जो तेरे मुकद्दर का है, तू उसे पाने की कोशिश तो” कुछ ऐसा ही हुआ दोनों के साथ और 14 साल बाद दोनों आज फिर से एक हो गए।

ससुराल वालों को महिला का संगीत प्रेम नहीं था पसंद

दरअसल, लॉकडाउन (Lockdown) के बाद खुले भोपाल के फैमिली कोर्ट (Family Court) में एक मामला सामने आया है, जहां संगीत प्रेमी (Music Lover) एक युवती की शादी साल 2006 में हुई थी। महिला को संगीत से बेहद लगाव था। घर के काम करने के बाद महिला को जैसे ही फुरसत मिलती, वो संगीत को अपना समय देती। लेकिन संगीत से महिला का यह प्यार उसके ससुरलवालों को रास नहीं आ रहा था। और ससुराल वालों ने महिला से संगीत छोड़ देने की बात कही। लेकिन महिला का संगीत से प्रेम कुछ ज्यादा था और वह चाह कर भी संगीत छोड़ नहीं पाई। जिसके बाद साल 2007 में दोनों पति-पत्नी का रिश्ता टूट गया और दोनों अलग हो गए।

Read More: नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर इस बड़ी तैयारी में कांग्रेस, चर्चा तेज

पति को हुए कैंसर का सुन कर भावुक हुई महिला

महिला एक शासकीय विभाग में काम करती है। डयूटी के दौरान महिला की अपने पति जिसे वो 14 साल पहले तलाक दे चुकी थी उसके मित्र से मुलाकात हुई। मुलाकात के दौरान दोनों की जब बात हुई तो पति के दोस्त ने महिला को उसके पति के बारेमे बताया। इस दौरान दोस्त ने बताया कि महिला के पति को कैंसर है। कैंसर का सुन कर महिला भावुक हो गई। वहीं जब वह दोस्त अपने कैंसर पीड़ित मित्र से मिला तो उसने अपने मित्र को उसकी पत्नी की उपलब्धियों के बारेमें बताया। पत्नी की तरक्की के बारेमे सुन कर पाती को भी खुशी हुई, लेकिन दोनों ने एक दूसरे से संपर्क नहीं किया।

दोस्त ने वापस मिलवाया

पति के दोस्त ने दोनों पति-पत्नी को वापस एक करने की ठान ली और दोनों की काउंसलिंग करवाने के लिए काउंसलर सरिता राजानी के पास पहुंचा और उन्हें पूरा मामला बताया। पूरा मामला समझने के बाद काउंसलर ने महिला को अपने दफ्तर बुलाया और महिला से बात कर वीडियो कॉल पर उसकी बात उसके पति से करवाई। इतने सालों बाद एक दूसरे को ऐसे देख दोनों पति-पत्नी भावुक हो गए। दोनों की तीन से चार दिन तक काउंसलिंग हुई और दोनों ने पुरानी सभी बातों को भूल कर वापस एक साथ रहने का फैसला किया। अपने मित्र की वजह से अब दोनों पति-पत्नी 14 साल बाद फिर से एक हो गए है और साथ में राह रहें है। फिलहाल महिला अपने पति का मुंबई स्थित एक अस्पताल में इलाज करवा रही है।

फ़िल्म की कहानी से कम नहीं : महिला काउंसलर

महिला कोर्ट की काउंसलर सरिता राजानी ने बताया की दुनिया मे बहुत विचित्र तरह के लोग होते है और बहुत विचित्र तरीके की घटनाएं होती है। ऐसा ही एक मामला मेरे पास आया जिसकी कहानी देखने और सुनने में पूरी फिल्मों की तरह लगती है। सरिता राजानी ने बताया कि पति-पत्नी के बीच में किसी तरह का कोई विवाद नहीं होने के बावजूद परिवार के चलते दोनों अलग हो गए। उन्होंने बताया कि आज 14 साल बाद फिर से दोनों एक हो गए है।