राज्य सीमा में आने के लिए मजदूरों का हंगामा, प्रशासन ने संभाला मोर्चा

शिवपुरी।

प्रदेश के बाहर रह रहे मजदूरों को वापस लाने की मुहिम सरकार(government) ने भी छेड़ दी है। वहीं यूपी(UP) और बिहार(BIHAR) के कुछ मजदूरों की घर वापसी को लेकर एक बड़ी घटना सामने आई है। जहां यूपी के बॉर्डर(border) पर सोमवार की सुबह मजदूरों का एक जत्था पहुंचा था। किंतु तेजी से फैल रहे हो कोरोना(corona) संक्रमण के बीच शिवपुरी जिले के दिनारा इलाके में उन्हें रोक लिया गया था। जिसके बाद मजदूरों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। हंगामे के बीच शिवपुरी(shivpuri) जिले के दिनारा इलाके में जाम की स्थिति हो गई। इसी बीच अधिकारी मौके पर पहुंचे एवं लिस्ट बनाकर उन्हें जिले में प्रवेश देना शुरू किया।

दरअसल सोमवार की सुबह शिवपुरी जिले के दिनारा इलाके में उत्तर प्रदेश के बॉर्डर पर कुछ मजदूर पहुंचे थे। जहां मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले पर मजदूरों को रोकने के बाद उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे के बीच पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे एवं मजदूरों से उनका नाम पता पूछ उन्हें जिले में प्रवेश देना शुरू किया। जानकारी के मुताबिक करीब 1000 मजदूर पैदल सफर कर यहां तक पहुंचे हैं। यह सारे मजदूर बिहार सहित उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद कानपुर के बताए जा रहे हैं।

वहीं जिगना थाना प्रभारी रविंद्र शर्मा ने दतिया कलेक्टर(datia collector) के प्रयास से मोर्चा संभाला और मजदूरों की लिस्ट तैयार की है। जिसके बाद उन्हें जिले में प्रवेश देने का इंतजाम किया जा रहा है। यह मजदूर रात से शिवपुरी जिले की दिनारा इलाके में उत्तर प्रदेश के बॉर्डर पर फंसे थे। जहां सुबह उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया था।