विधायकों को बंधक बनाने के आरोपों को लेकर VD का बड़ा बयान

भोपाल।
एमपी में सरकार गिराने और विधायकों को बंधक बनाकर खरीदने के आरोपों के बीच नवनियुक्त भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा का बड़ा बयान सामने आया है।वीडी का कहना है कि कांग्रेस की सरकार अंतर्विरोध-अंतर्कलह से ग्रसित है। भाजपा का इस तरह के घटनाक्रम से कोई लेना-देना नहीं है, न ही हमारे इस तरह के कोई प्रयास हैं।

आरोपों के बाद भोपाल में मीडिया से चर्चा करते हुए वीडी ने कहा कि कांग्रेस को अपने घर की चिंता करनी चाहिए। कांग्रेस के नेताओं से पूछिए कि उनके यहां ऐसा क्यों हो रहा है। मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार अंतरकलह से ग्रसित है, उनसे अपने लोग तो संभल नहीं रहे और भाजपा पर बेबुनियाद आरोप लगाने में लगे हुए हैं। मेरी कमलनाथ जी को सलाह है कि पहले अपने घर की चिंता करें।

दरअसल,  मंगलवार देर रात कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भाजपा ने कांग्रेस के 6, बसपा के 2 (एक निलंबित) और एक निर्दलीय विधायक को गुड़गांव के आईटीसी मराठा होटल में बंधक बनाया। इसबीच रात में ही भोपाल से मंत्री जीतू पटवारी और जयवर्धन सिंह को दिल्ली भेजा गया। हालांकि जीतू और जयवर्धन के होटल पहुंचने से पहले ही सभी विधायकों को किसी अज्ञात स्थान पर शिफ्ट किया जा चुका था, सिर्फ रामबाई होटल के बाहर मिलीं। रात करीब 2 बजे कुछ विधायक होटल से अपना सामान लेकर बाहर निकलते देखा गया।इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। फिलहाल की स्थिति ये है कि कांग्रेस ने दावा किया है कि सात विधायक लौट आए है लेकिन अब भी चार विधायक बीजेपी के साथ है।हालांकि उन्होंने उनके लौटने का दावा किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अब विधायकों को बेंगलुरु भेजा गया है। हॉर्स ट्रेडिंग को लेकर कांग्रेस आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी।इस पूरे घटनाक्रम के बाद सियासत में जमकर बवाल मचा हुआ है। भोपाल से दिल्ली तक बयानबाजी हो रही है, आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे है।