कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री का निधन, सीएम शिवराज ने जताया शोक

11 जून को कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन इस बार भी उन्होंने कोरोना को मात दे दी थी।

हिमाचल प्रदेश, डेस्क रिपोर्ट। हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री (former chief minister) और कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह (veerbhadra singh) का 87 की उम्र में निधन हो गया है। लंबी बीमारी से जूझने के बाद आखिर उन्होंने अंतिम सांस ली। इससे पहले सोमवार को उन्हें हार्ट अटैक (heart attack) आने के बाद इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज (indira Gandhi Medical College) में भर्ती कराया गया था।

ज्ञात हो कि लंबे समय से हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह बीमार चल रहे थे। जहां उनकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी। सोमवार को अस्पताल में वीरभद्र सिंह की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें आईसीयू (ICU) में वेंटिलेटर सपोर्ट (Ventilator Support) पर रखा गया था। पूर्व मुख्यमंत्री के निधन की पुष्टि इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज शिमला के मेडिकल सुपरिटेंडेंट जनक राज ने की।

Read More: सराफा व्यापारियों से 60 लाख की ठगी करने वाले तीन पुलिस आरक्षक सेवा से बर्खास्त

बता दें कि वीरभद्र सिंह कांग्रेस पार्टी से 9 बार विधायक रहे। साथ ही पांच बार सांसद भी चुने गए हैं। उन्होंने 6 बार सीएम के रूप में शपथ ली है और मौजूदा समय में वह सोलन जिले से विधायक है। इसके अलावा मनमोहन सिंह के नेतृत्व में 28 मई 2009 को वह इस्पात मंत्री भी बनाए गए थे। वह पहली बार 1983 में मुख्यमंत्री बने थे और 1990 तक लगातार दो बार इस पद पर बने रहे। इसके अलावा 1993 से 1998, 2003 से 2007 और 2012 से 2017 के बीच उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री की कमान संभाली थी।

13 अप्रैल को कोरोना होने के बाद उन्हें मोहाली के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां 23 अप्रैल को कोरोना संक्रमण से जीतकर वह घर लौट आए थे। हालांकि संक्रमण ठीक होने के बाद ही उन्हें सांस की दिक्कत लगातार होती रही थी। जिसके बाद उन्हें एक बार फिर से आईजीएमसी में भर्ती कराया गया था। फिर एक बार 11 जून को कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन इस बार भी उन्होंने कोरोना को मात दे दी थी।