बारिश में गेहूं और चने को भारी नुकसान, पर्ची जनरेट नहीं होने के कारण रुका रहा परिवहन

शमशाबाद।विपिन शर्मा।

एक तरफ कोरोना जैसी महामारी से प्रदेश जूझ रहा था। बही निसर्ग ने किसानों और प्रशासन की चिंता बड़ा दी। बुधवार शाम से शमशाबाद छेत्र में जोरदार बारिश शुरू हुई। जिससे शमशाबाद की अनेक सोसायटीयो में पड़ा लगभग 50 हजार बोरी गेंहू- 3 हजार बोरी चना पूरी तरह से भीग चुका है।

बही सोसायटी प्रभारियों ने बताया कि पर्ची जनरेट नही होने के कारण अनाज का परिवहन नही हो सका। एकदम से जोरदार बरसात होने लगी जिससे भारी नुकसान होने की संभावना है। बही तुलाई बंद होने से हजारों किसान अपना अनाज घर ले जा चुके है और कुछ तो अभी भी इंतज़ार कर रहे है। अपनी फसल की तोल का जिला प्रशासन की बदइंतजामी का खामियाजा किसानों को उठाना पड़ा। बही सिस्टम की नाकामी से हज़ारों कुंटल अनाज बारिश के कारण खराव होने की कगार पर है।