महाराज और शिवराज को किसने कहा “झूठा”

भोपाल।
एक तरफ एमपी(MP) में कोरोना पॉजिटिव(corona positive) के आंकड़े दिनों दिन बढ़ते जा रहे है वही दूसरी तरफ बीजेपी-कांग्रेस(bjp-congress) के बीच सोशल मीडिया(social media) के माध्यम से जुबानी जंग तेजी से चल रही है। दोनों एक दूसरे पर जमकर वार-पलटवार कर रहे है। अब उपचुनाव से पहले चंबल एक्सप्रेस वे’ को लेकर श्रेय लेने की राजनीति शुरु हो गई है। शिवराज सरकार (shivraj sarkar)के  ‘चंबल एक्सप्रेस वे’ (Chambal Expressway) के फैसले को लेकर पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन वर्मा (Former Cabinet Minister Sajjan Verma) ने ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj SIngh Chauhan) के पर पलटवार किया है।वर्मा ने ट्वीटर के माध्यम से  मुख्यमंत्री शिवराज और बीजेपी नेता सिंधिया पर झूठ बोलना का आरोप लगाया है।

सज्जन वर्मा ने ट्वीटर के माध्यम से एक वीडियो जारी किया है जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज और बीजेपी नेता सिंधिया पर झूठ बोलना का आरोप लगाया है। ट्वीट कर वर्मा ने लिखा है कि शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया मिलकर झूठ बोलने के मामले में एक और एक ग्यारह हो गए हैं। चम्बल एक्सप्रेस-वे कांग्रेस के प्रयासों से शुरू हुई बहुआयामी योजना है, जिसके लिए कांग्रेस ने हर स्तर पर प्रयास किये।बता दे कि यह पहला मौका नही है, जब वर्मा ने सिंधिया पर हमला बोला हो। इसके पहले भी वे कई बार ट्वीटर के माध्यम से शिवराज और खास करके सिंधिया को आड़े हाथों ले चुके है।

दरअसल, दो दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj SIngh Chauhan) ने ग्वालियर-चंबल संभाग को बड़ा तोहफा देते हुए ‘चंबल एक्सप्रेस वे’ (Chambal Expressway) को फिर से बनाने का ऐलान किया था।लेकिन विपक्ष के द्वारा इसे चुनावी फैसला बताने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने पहले शिवराज को आभार जताया फिर कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधा था । सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा था कि “पूर्व की कांग्रेस सरकार ने चंबल के विकास, प्रगति और उन्नति को गति देने के लिए बनने वाले ‘चंबल एक्सप्रेस वे’ को ठंडे बस्ते में डाल दिया था, उसे आज मप्र सरकार ने ‘चंबल प्रागेस वे’ के नाम से तुरंत बनाने का निर्णय लिया है । जिस पर कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने पलटवार किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here