जय श्रीराम के नारे से क्यों नाराज हुईं ममता, कैलाश विजयवर्गीय ने साधा निशाना

विजयवर्गीय ने कहा- मुझे लगता है कि जब वह मंच पर आईं तो उनके सम्मान में यह नारा बुलंद किया गया। जय श्री राम के नारे के कारण मंच छोड़ना कुछ और नहीं बल्कि उनकी हताशा को दर्शाता है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| कोलकाता (Kolkata) में नेताजी सुभाषचंद्र बोस (Subhash Chaldra Bose) की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में जय श्रीराम (Jai Shriram) के नारे के बाद मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) का मंच छोड़कर जाना अब राजनीतिक मुद्दा बन गया है। एक तरफ जहां सोशल मीडिया पर ममता को ट्रोल किया जा रहा है| वहीं राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है| अब इस मामले पर मध्य प्रदेश भाजपा के कद्दावर नेता व बीजेपी के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा है।

कैलाश विजयवर्गीय ने शनिवार को कहा कि उन्‍हें यह समझ में नहीं आ रहा है कि जय श्रीराम का नारा लगाने में क्‍या समस्‍या है और ममता जी इससे क्‍यों नाराज हो गईं। विजयवर्गीय ने कहा- मुझे लगता है कि जब वह मंच पर आईं तो उनके सम्मान में यह नारा बुलंद किया गया। जय श्री राम के नारे के कारण मंच छोड़ना कुछ और नहीं बल्कि उनकी हताशा को दर्शाता है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में रखे गए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नारेबाजी से नाराज होकर मंच छोड़कर चली गई थी| जब वे मंच पर जा रही थीं, तब कुछ लोगों ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगा दिए। इस पर वे नाराज हो गईं और भाषण देने से इनकार कर दिया। ममता ने कहा कि सरकार के कार्यक्रम की गरिमा होनी चाहिए। यह कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है। मैं तो प्रधानमंत्री जी की आभारी हूं, कल्चरल मिनिस्ट्री की आभारी हूं कि आप लोगों ने कोलकाता में प्रोग्राम बनाया. लेकिन किसी को आमंत्रित करके, किसी को निमंत्रित करके उसका अपमान करना आपको शोभा नहीं देता, मैं इस पर विरोध जताते हुए यहां नहीं बोलूंगी|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here