मध्य प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र स्थगित, सर्वदलीय बैठक में फैसला

सर्वदलीय बैठक में हुई चर्चा पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया को बताया कि सर्वदलीय बैठक में तय हुआ है कि कोरोना की वर्तमान स्थिति को देखते हुए सत्र को स्थगित करने का फैसला लिया गया है|

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| सोमवार से शुरू होने वाला मध्य प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र स्थगित कर दिया गया है| सर्वदलीय बैठक में यह निर्णय लिया गया है| बैठक से पहले ही सत्र को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी| जिस तरह लगातार विधायक व कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव निकल कर आ रहे थे, इसको लेकर ऐसा माना जा रहा था कोरोना संक्रमण के चलते सत्र स्थगित किया जा सकता है| हालांकि कांग्रेस पहले से ही सरकार पर विपक्ष की आवाज दबाने और कोरोना के नाम पर चर्चा से बचने के आरोप लगा रही थी|

सर्वदलीय बैठक में हुई चर्चा पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया को बताया कि सर्वदलीय बैठक में तय हुआ है कि कोरोना की वर्तमान स्थिति को देखते हुए सत्र को स्थगित करने का फैसला लिया गया है| गृहमंत्री ने कहा कि अब सीधे बजट सत्र होगा| बैठक के बाद नेता प्रतिपक्ष कमल नाथ ने कहा कि जो भी हो नियम का पालन किया जाए। सत्र चल सकता है तो चलाया जाए। हमने सुझाव दिया है कि समितियां बना ली जाएं। विधायकों के प्रश्नों के जवाब भी दिए जाएं। नए सदस्यों की शपथ अध्यक्ष के कक्ष में कराई जाए और हमारी आवाज दबाने का प्रयास न किया जाए। बैठक में कांग्रेस, भाजपा, बसपा, सपा के विधायक शामिल हुए|

शीतकालीन सत्र 28 दिसंबर से प्रस्तावित था और 30 दिसंबर तक चलना था। लेकिन सत्र से पहले कराई जा रही जांच में विधानसभा के 50 से अधिक कर्मचारी और 10 विधायक कोरोना पॉजिटिव आए थे। सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कोरोना की जांच कराई थी, उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। कोरोना संक्रमण के चलते सर्वदलीय बैठक में सर्व सम्मति से सत्र को स्थगित करने का फैसला लिया गया है|