महिला अपराध: पुलिस ने नहीं दर्ज की एफआईआर, कार्यशैली पर उठे सवाल

घंटे तक किशोरी और उसके परिजन भटकते रहे पर उसकी सुनवाई नही हुई। बाद में जब हंगामा हुआ और एसपी को इसमे हस्तक्षेप करना पड़ा तब जाकर मामला दर्ज हुआ।

संदीप कुमार, जबलपुर। जबलपुर में एक बार फिर पुलिस की कार्यशैली पर उस समय सवाल उठे जब 16 साल की नाबलिक लड़की की शिकायत न लिखते हुए पुलिस ने उसे वहाँ से भगा दिया। मामला धन्वंतरि नगर पुलिस चौकी का है। जहाँ एक बहादुर लड़की ने आरोपी को दांत से काटकर पहले तो अपने आपको बचाया और फिर पुलिस चौकी पहुँच गई पर वहाँ किशोरी की रिपोर्ट न लिखते हुए उसे यह कहकर भगा दिया कि महिला स्टाफ नही है।

परिवार का पालन पोषण करने किशोरी करती है किराना दूकान में काम

अंधुआ गाँव की रहने वाली 16 वर्षीय किशोरी जो कि अपने परिवार को पालने के लिए धनवंतरी नगर स्थित एक किराना दूकान में काम करती है। गुरुवार को जब रात में दूकान से किशोरी अपने घर जा रही थी। तभी रास्ते मे एक युवक ने उसे पकड़ा और रेप करने की नीयत से उसे झाड़ियों में खींच ले गया पर किशोरी ने हिम्मत दिखाते हुए मनचले के हाथ मे जोर से काटा और चीखने लगी। चीख-पुकार सुनकर कुछ लोग आ गए तो आरोपी वहाँ से भाग खड़ा हुआ। हड़बड़ी में आरोपी का मोबाइल मौके पर गिर गया। अपने आपको बचाने के बाद किशोरी धनवंतरि नगर पुलिस चौकी आई पर वहाँ उसकी सुनवाई नही हुई।

पुलिस ने किया शर्मशार

किशोरी के शोर मचाने पर राहगीर भी पहुंच गए। किशोरी ने खुद को तो बचा लिया लेकिन धनवंतरी नगर चौकी पहुंची तो वहां के स्टाफ का रवैया शर्मसार करने वाला था। चौकी में मौजूद स्टाफ ने ये कहकर किशोरी को भगा दिया कि महिला स्टाफ नही यहाँ। आप संजीवनी नगर थाने जाकर रिपोर्ट दर्ज करवाए।

सूचना पर मोक्ष संस्था पहुँची चौकी, हुआ हंगामा

एक बहादुर नाबालिग किशोरी जिसने कि ना सिर्फ अपने आप को बचाया। बल्कि जब अपने साथ हुई ज्यादती की शिकायत दर्ज करवाने पुलिस चौकी पहुंची तो उसकी रिपोर्ट पुलिस ने दर्ज नहीं की। लिहाजा इसकी सूचना मोक्ष संस्था को दी गई। जिसके बाद संस्था के कार्यकर्ता धनवंतरी नगर पुलिस चौकी पहुंचे और वहां पर जमकर हंगामा किया। इतना ही संस्था के आशीष ठाकुर ने एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा को इस पूरे घटनाक्रम से अवगत करवाया। तब जाकर पुलिस हरकत में आई।

तीन घण्टे बाद एसपी के हस्तक्षेप से हुई शिकायत दर्ज

शासन के आदेश है कि महिला अपराध की शिकायत हर हाल में तुरंत ही दर्ज करना है पर इसके विपरित धनवंतरी नगर पुलिस चौकी में सरकार के आदेश की धज्जियां उड़ाई गई। घंटे तक किशोरी और उसके परिजन भटकते रहे पर उसकी सुनवाई नही हुई। बाद में जब हंगामा हुआ और एसपी को इसमे हस्तक्षेप करना पड़ा तब जाकर मामला दर्ज हुआ।

आरोपी की तलाश हुई शुरू

एसपी सिद्धार्थ भगोड़ा ने जब संजीवनी नगर थाना और धनवंत्री नगर पुलिस चौकी को फटकार लगाई। उसके बाद फिर थाना प्रभार भूमेश्वरी चौहान मौके पर पहुँची और घटनास्थल पर आरोपी के मिले मोबाइल के आधार पर जाँच शुरू की।पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 354, 354 (डी) व पाॅक्सो एक्ट का प्रकरण दर्ज किया है।

MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here