एमपी में यहां बाँस बल्ली लगाकर युवक-युवतियों ने किया रास्ता बंद

मुरैना।संजय दीक्षित।

नगर निगम क्षेत्र के शिकारपुर गांव में स्थानीय युवाओं महिलाओं ने कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए अनूठी जंग शुरू की है ।जिसमें कोरोना से बचने के लिए उन्होंने गांव के सभी प्रवेश द्वारों को अपने स्तर पर सील कर दिया है। बांस बल्ली लगाकर बैरिकेडिंग करने के साथ ही एक बैनर भी टांगा है। जिसमें लिखा गया है कि देश हित में हम मोदी जी के साथ हैं और गांव में किसी बाहरी व्यक्ति व रिश्तेदार का प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंधित है।

शिकारपुर गांव से चार पांच रास्ते ऐसे हैं जिनसे होकर कई गांव के लोग आते जाते रहते हैं कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की दिशा में गांव के युवाओं ने यह पहल शुरू की है। इन सभी रास्तों पर गांव के दो-तीन युवा हर समय तैनात रहते हैं। जिसमें आधा दर्जन महिलाओं को भी साथ में लिया गया है, अगर कोई महिला गांव में घुसने का प्रयास करती है तो गांव की महिलाएं उसे रोक देती है ।गांव का व्यक्ति भी यदि बाहर से आता है तो परीक्षण कराए जाता है और 14 दिन होम क्वॉरेंटाइन के लिए भेज दिया जाता है।इसके साथ ही आसपास के लोगों ने काँटों की झाड़ियों और खटिया लगाकर रास्ते को अवरूद्ध कर दिया हैं।जिससे कोरोना जैसी बीमारी को गाँव मे फैलने से बचाया जा सके।इस अनूठी पहल से आसपास के लोगों में जागरूकता पैदा हुई हैं।

एमपी में यहां बाँस बल्ली लगाकर युवक-युवतियों ने किया रास्ता बंद