आज खुल गया Auro Group की इस कंपनी का IPO, इतनी है प्राइस बैंड, 15 मई तक निवेशक लगा सकते हैं दांव, जानें डीटेल

Manisha Kumari Pandey
Published on -

Auro Impex And Chemicals Limited IPO: ऑरो ग्रुप के अंतर्गत आने वाली कंपनी ऑरो इंपेक्स एंड केमिकल्स लिमिटेड ने 11 मई यानि आज अपना आईपीओ खोल दिया है। निवेशक 15 मई, 2023 तक दांव लगा पाएंगे। कंपनी की स्थापना वर्ष 1994 में हुई थी। यह डिस्चार्ज-कलेक्टिंग इलेक्ट्रोड्स और इलेक्ट्रोस्टैटिक्स प्रेसीपीटेटर के इंटरनल पार्ट्स का उत्पादन, एक्सपोर्ट और सप्लाइ का कारोबार करती है। वर्किंग कैपिटल आवश्यकताओं और जनरल कॉर्पोरेट उद्देश्यों की पूर्ति के लिए कंपनी अपना आईपीओ लेकर आई है।

आईपीओ के जरिए कंपनी 27 करोड़ रुपये जुटाने का टारगेट रखती है। कुल 3,470,000 शेयरों को जारी किया जाएगा। जिसमें से 10 करोड़ रुपये जुटाने के लिए 550,400 शेयरों को ऑफर फॉर सेल के तौर पर जारी किया पाएगा। वहीं 2,920,00 शेयरों को फ्रेश इश्यू के तौर पर जारी किया गया है। इश्यू का प्राइस बैंड 74 रुपये से लेकर 78 रुपये है। फेस वैल्यू 10 रुपये प्रति इक्विटी शेयर है। लॉट साइज़ 1600 इक्विटी शेयर्स हैं।

इश्यू में 56.02 फीसदी शेरर्स रीटेलर्स के लिए रिजर्व किए गए हैं। वहीं 33.98 फीसदी NII और 10 फीसदी QIB के लिए रिजर्व किए गए हैं। आईपीओ की लिस्टिंग 23 मई, 2023 को बीएसई और एनएसई पर हो सकती है। इसके प्रोमोटर्स मधुसुदन गोएंका और प्रवीण कुमार गोएंका हैं। लीड मैनेजर Affinity Global Capital Market Private Limited है। वहीं Cameo Corporate Services Limited रजिस्ट्रार है।

(Disclaimer: इस लेख का उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है। MP Breaking News शेयर मार्केट या आईपीओ में निवेश करने की सलाह नहीं देता।)


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News