Maruti Car को लेकर आ रही बुरी खबर, खरीदने का मन बना रहे हैं तो एक बार जरूर पढ़ें यह खबर

कंपनी के पास 3.25 लाख ग्राहकों की कार डिलीवरी पेंडिंग पड़ी हुई है। इन कारों में सबसे अधिक CNG मॉडल है क्योंकि पेट्रोल और डीजल के दाम जिस तरह से बढ़ रहे हैं उसके बाद लोगों ने सीएनजी मॉडल की तरफ अपना रुख अपनाया है

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। मारुति की कार मतलब भारत देश का सबसे ज्यादा बिकने वाला ब्रांड। यदि भारत में कोई सबसे ज्यादा बिकने वाली कार है तो वह है मारुति की कार क्योंकि सबसे पहले तो यह आपके बजट में होती है, दूसरा इसका माइलेज अन्य गाड़ियों के मुकाबले में बहुत ज्यादा होता है और तीसरा इसके मेंटेनेंस में ज्यादा खर्च वहन नहीं करना पड़ता है। यह 3 ऐसे कारण है जिसके वजह से मारुति की कारों की डिमांड को तेजी से बढ़ रही है। हालात ऐसे हैं कि इस महीने कंपनी के पास 3.25 लाख ग्राहकों की कार डिलीवरी पेंडिंग पड़ी हुई है। इन कारों में सबसे अधिक CNG मॉडल है क्योंकि पेट्रोल और डीजल के दाम जिस तरह से बढ़ रहे हैं उसके बाद लोगों ने सीएनजी मॉडल की तरफ अपना रुख अपनाया है।

यह भी पढ़ें – जब पुलिस और नगरपालिका फेल तब आए एसडीएम, अतिक्रमण देख गुस्से में एसडीएम ने यह कर डाला दुकानदारों के साथ

आपको बता दें कि मारुति के ज्यादातर मॉडल अब सीएनजी में उपलब्ध है ऐसे में यदि आप भी मारुति का कार खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो आपको इसकी डिलीवरी के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। एक इंटरव्यू के दौरान कंपनी के सीनियर ईडी शशांक श्रीवास्तव ने बताया कि मारुति के सीएनजी मॉडल की डिमांड बहुत ज्यादा तेज हो गई है मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के पोर्टफोलियो सेल में सीएनजी कारों की बिक्री की हिस्सेदारी है 17 परसेंट तक बढ़ गई है। हालांकि कंपनी के पास एक मॉडल में ही कई वैरीअंट होते हैं लेकिन ज्यादातर ग्राहक कंपनी के बीच वैरीअंट की ओर अपना रुख अख्तियार करते हैं। जबकि सीएनजी का वैरीअंट बेस मॉडल से बहुत ऊपर होता है इसलिए कंपनी को अलग-अलग वैरीअंट की डिलीवरी करने के लिए प्रोडक्शन में एक बड़ा चैलेंज होता है।

यह भी पढ़ें – Aadhar Card के बायोमेट्रिक डाटा को लेकर बड़ा खुलासा

फिलहाल मारुति देश की सबसे बड़ी कार कंपनी बनी हुई है और इसके पास 9 से भी अधिक सीएनजी मॉडल उपलब्ध है। कंपनी के पास वर्तमान समय में कुल 15 मॉडल है। सीएनजी मॉडल के साथ आने वाली गाड़ियों की लिस्ट में शामिल है ऑल्टो, एस्प्रेसो, सिलेरियो, इको, डिजायर, वैगनआर, अर्टिगा व अन्य मॉडल शामिल है। वही कमर्शियल में H3 और NM सीएनजी में उपलब्ध है। कंपनी ने अप्रैल में 1.20 लाख से अधिक कारों को बेचा है।

यह भी पढ़ें – इन बीमारियों से जूझने वाले व्यक्तियों को काम करते-करते जल्दी हो जाती है थकान

मारुति की सीएनजी कारों की बिक्री की अगर बात करें तो इसमें पिछले फाइनेंसियल ईयर के मुकाबले जबरदस्त इजाफा देखने को मिल रहा है जहां फाइनेंसियल ईयर 2018 में मारुति की 76 हजार यूनिट बेचीं थी। वहीं पर फाइनेंसियल ईयर 2019 में 1 लाख 5 हजार और फाइनेंशियल ईयर 2020 में 116000 यूनिट बेची है। सी एन जी के गाड़ियों की कीमत पेट्रोल डीजल की गाड़ियों के मुकाबले कम है वहीं इसका माइलेज भी अधिक होता है।

यह भी पढ़ें – Morena News: विद्युत विभाग की लापरवाही से गई जान, ग्रामीणों ने लगाया जाम

देश में एक तरफ जहां पेट्रोल और डीजल की कीमतों में भारी उछाल हो रहा है वहीं दूसरी तरफ सीएनजी की बिक्री भी तेजी से बढ़ रही है। जिससे इसकी कीमतों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है हम इसके अलावा रूस यूक्रेन जन के कारण भी सीएनजी की कीमतों में लगातार वृद्धि हुई है। लास्ट ईयर दिल्ली में सीएनजी ₹53 किलो थी जो अब ₹71 किलो बिक रही है।