जल्द निपटा लें बैंक अकाउंट से जुड़ा ये काम, वरना फ्रीज हो जाएगा आपका खाता, पढ़ें पूरी खबर

Manisha Kumari Pandey
Published on -
bank account

Bank KYC Update: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया लगातार ग्राहकों को रि-केवाईसी को लेकर अलर्ट करता रहता है। बैंक भी ग्राहकों को ईमेल के जरिए केवाईसी अपडेट करवाने की सलाह देते हैं। आरबीआई ने नियमों के अनुसार ग्राहकों के 8-10 में कम से कम एक बार केवाईसी दोहराया जाता है। हालांकि हाई रिस्क ग्राहकों के लिए साल में एक बार रि-केवाईसी की सलाह केन्द्रीय बैंक देता है।

रि-केवाईसी न होने पर फ्रीज़ हो जाएगा खाता

यदि आपको भी बैंक की ओर से केवाईसी से संबंधित ईमेल मिलता है तो इसे इग्नोर न करें। इसपर तुरंत एक्शन लें। बता दें कि आरबीआई ने मई 2019 में एक सर्कुलर जारी किया था, जिसे 4 अप्रैल 2023 को अपडेट किया गया। सर्कुलर के मुताबिक यदि बैंक का कोई भी ग्राहक फॉर्म 60 , पैन या इसके बराबरी का कोई भी दस्तावेज जमा नहीं करता है, जो उनका खाता फ्रीज़ कर दिया है। इससे पहले ग्राहकों को नोटिस भी भेजा जाएगा। समय पर केवाईसी अपडेट न करने पर अपना बैंक अकाउंट सस्पेंड या फ्रीज़ भी हो सकता है। जिसके बाद लेनदेन पर भी रोक लग जाएगा।

कैसे Re-Activate करें फ्रीज अकाउंट?

अकाउंट फ्रीज़ होने के बाद ग्राहक अलग-अलग तरीके से अपना अकाउंट फिर से एक्टिव कर सकते हैं। कोटक महिंद्रा बैंक ऑनलाइन रि-केवाईसी की सुविधा प्रदान करता है। ग्राहक आसानी से मोबाइल ऐप के जरिए यह कार्य पूरा कर सकते हैं। वहीं बैंक ऑफ बड़ौदा के आधिकारिक वेबसाइट ऐसे तीन तरीके हैं, जिसके जरिए सस्पेंडेड अकाउंट को एक्टिव किया जा सकता है।

  • ग्राहक बैंक के होम ब्रांच में जाकर Re-KYC फॉर्म भर सकते हैं। इसके लिए केवाईसी डॉक्युमेंट की कॉपी जमा करने की जरूरत पड़ती है।
  • वीडियो कॉल के जरिए भी रि-केवाईसी करवाया जा सकता है। ऐसा वहीं ग्राहक कर सकते हैं जिनके पास आधार नंबर और ऑरिजिनल पैन कार्ड हो।
  • यदि ग्राहकों को केवाईसी डिटेल्स में कोई बदलाव नहीं करना है तो वे पोस्ट, ईमेल, कूरियर के माध्यम से ऑरिजिनल हस्ताक्षर के साथ सेल्फ-डिक्लेरेशन फॉर्म भेज सकते हैं।

 

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News