GST Collection: जीएसटी से भरा भारत सरकार का खजाना, बनाया नया रिकॉर्ड, इतनी हुई कलेक्शन में वृद्धि, जानें

वित्त मंत्रालय ने जीएसटी कलेक्शन को लेकर नई रिपोर्ट जारी कर दी है। दिसंबर के कलेक्शन में 15 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

GST Collection In December: नए साल पर भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर अच्छी खबर सामने आई है। देश के खजाने को साल 2022 में जीएसटी क्लेशन से बहुत लाभ हुआ है। वित्त मंत्रालय ने रिपोर्ट जारी करके इसकी जानकारी दी है। दिसंबर 2022 में जीएसटी कलेक्शन में करीब 15% की वृद्धि हुई है। जिसके कारण एक नया रिकॉर्ड बन चुका है। सरकार ने 1.49 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का क्लेशन इससे किया है। इससे पहले पिछले साल नवंबर में जीएसटी कलेक्शन 1.46 लाख करोड़ का क्लेशन हुआ था।

रिकार्ड तोड़ हुई कमाई

मंत्रालय द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक सीजीएसटी 26,711 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 33,357 करोड़ रुपये, सेस 11,005 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 78,434 करोड़ रुपये दर्ज किया गया है। लगातर पिछले 10 महीनों से जीएसटी कलेक्शन 1.40 लाख करोड़ से अधिक रहा। नवंबर में 11 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 1.46 लाख करोड़ सरकार के भंडार में गए थे। अप्रैल में 1.68 लाख करोड़ रुपये का रिकॉर्ड बना था। इसके अलावा दिसंबर 2022 में घरेलू लेन-देन से रेवेन्यू रिपोर्टिंग पीरियड में 18 फीसदी की वृद्धि देखी गई है। साथ ही वस्तुओं के आयात से रेवेन्यू 8 फीसदी ज्यादा दर्ज किया गया था।

इन चीजों में मिली राहत

नए साल की शुरुआत में कई चीजों पर राहत मिली है। 1 जनवरी यानि आज से रेजिडेंशियल यूनिट पर रजिस्टर्ड यूनिट के प्रॉपर्टी को किराये पर दिया गया है, उसे जीएसटी दायरे से बाहर कर दिया गया है। वहीं सीबीआईसी के मुताबिक यदि किसी प्रॉपर्टी का इस्तेमाल मालिकाना हक के लिए जा रहा है, इसलिए ओनर को रिवर्स चार्ज मैकेनिज़्म के तहत 18% जीएसटी लगाया जाएगा। इसके अलावा दाल की भूसी पर भी कोई टैक्स नहीं लगेगा।