कोरोना के मद्देनजर होली होगी मंहगी, स्टाॅक में भी कमी

इंदौर (indore) में होली के लिए थोक बाजार (wholesale market) लग चुके हैं। पिछले साल के मुकाबले इस साल गुलाल और पिचकारी महंगी (high rate) नज़र आ रहीं हैं।

holi market

 इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। महीने के अंत मे आने वाले होली (holi) के त्योहार के लिए तैयारियां शुरू हो गयीं हैं। बाजार (market) भी सजने लगे हैं। हालांकि कोरोना के प्रभाव (corona effect) अभी भी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। इंदौर (indore) में होली के लिए थोक बाजार (wholesale market) लग चुके हैं। पिछले साल के मुकाबले इस साल गुलाल और पिचकारी महंगी (high rate) नज़र आ रहीं हैं।

इंदौर में सामान्य तौर पर होली के समय रंग, गुलाल और पिचकारी आदि का थोक बाजार करीब पांच करोड़ का लगता है। पिछले वर्ष के अंत में कोरोना के मामलों में गिरावट आते देख होली के त्योहार को बिना रोक-टोक मनाने का अंदेशा थे लेकिन पिछले महीने में फिर से बढ़ते मामलों को नज़र में रखते हुए नाइट कर्फ़्यू लगने की आशंका है। इसी के चलते व्यापारियों ने होली से जुड़े सामान का माल कम करवा दिया।

यह भी पढ़ें… Gold Silver Price: ग्लोबल मार्केट की गिरावट का असर घरेलू कीमतों पर भी

माल की कमी के चलते होली के आने तक माल की शॉर्टेज के भी आसार हैं। पेट्रोलियम पदार्थों की लागत बढ़ने की वजह से प्लास्टिक के भी दाम उचाईयों पर हैं। जिसके चलते पिचकारियों की कीमत बढ़ती नज़र आ रही है। परिस्थितियों को देखते हुए सूखी होली खेले जाने के आदेशों से गुलाल के भी दाम बढ़े हुए हैं।