आज खुल गया IKIO Lighting Limited का IPO, 8 जून तक दांव खेलने का मौका, जानें इश्यू साइज़ और प्राइस बैंड

IPO Opens Today: आईकेआईओ लाइटिंग लिमिटेड ने अपना आईपीओ खोल दिया है। कंपनी वर्ष 2016 ने एलईडी लाइट्स का उत्पादन कर रहा है। 6 जून को एलईडी लाइट के भारतीय उत्पादक ने अपना इश्यू जारी कर दिया है। निवेशक 8 जून तक दांव लगा पाएंगे। नोएडा में एक नई सुविधा स्थापित करने के लिए पूर्ण स्वामिट्व वाली सहायक कंपनी आईकेआईओ सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड में निवेश के लिए, समेकित आधार पर कंपनी और उसकी सहायक कंपनियों द्वारा लिए गए कुछ पूर्व भुगतान और समान्य कॉर्पोरेट  उद्देश्यों की पूर्ति के लिए कंपनी अपना आईपीओ ले कर आई है।

6 जून सुबह 11:28 बजे तक आईपीओ को 0.28 गुना सबस्क्राइब किया गया है। रीटेल सब्स्क्रिप्शन 0.42 गुना है। QIB के लिए 28.57%, NII के लिए 21,43% और रीटेल के लिए 50% शेयरों को रिजर्व किया गया है। 607 करोड़ रुपये जुटाने के लक्ष्य से कंपनी ने अपने शेयरों को जारी किया है। फ्रेश इश्यू के जरिए कंपनी 350 करोड़ रुपये जुटाने का टारगेट रखती है। वहीं 9,000,000 शेयरों को ऑफर फॉर सेल के तौर पर जारी किया गया है।

इश्यू का प्राइस बैंड 270 रुपये से लेकर 285 रुपये प्रति शेयर है। लॉट साइज़ 52 शेयर्स है। शेयरों की लिस्टिंग 16 जून, 2023 को होगी। हरदीप सिंह और सुरममेट कौर कंपनी के प्रोमोटर्स हैं। Kfin Technologies Limited रजिस्ट्रार है और लीड मैनेजर मोतीलाल ओसवाल इनवेस्टमेंट एडवाइजर प्राइवेट लिमिटेड है।

(Disclaimer: इस आलेख का उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है। MP Breaking News शेयर मार्केट या आईपीओ में निवेश करने की सलाह नहीं देता।)


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News