जून में इंश्योरेंस कंपनियों में आई बहार, 94 फीसदी बढ़ी प्रीमियम आय

Insurance-companies-surged-by-94%-in-June

नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष के जून महीने में जीवन बीमा कंपनियों की नई प्रीमियम आय 94 फीसदी बढक़र 32241.33 करोड़ रुपए रही। भारतीय जीवन बीमा निगम की प्रीमियम से सबसे ज्यादा आय हुई है। इंश्योरेंस रेग्युलेटर इरडा के आंकड़ों से यह जानकारी मिली। इससे पहले, सभी 24 जीवन बीमा कंपनियों को जून 2018 में नई पॉलिसी से 16611.57 करोड़ रुपए का प्रीमियम मिला था। देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी एलआईसी की जून में नई पॉलिसी से प्रीमियम आय दोगुना से ज्यादा बढक़र 26030.16 करोड़ रुपए रहा। जून 2018 में यह आंकड़ा 11167.82 करोड़ रुपए पर था। इसके साथ ही भारतीय जीवन बीमा निगम की बाजार हिस्सेदारी बढक़र 74 फीसदी पर पहुंच गई। बाकी 26 फीसदी हिस्सेदारी निजी बीमा कंपनियों के हिस्से में रही। एलआईसी ने जून माह के दौरान 13.32 लाख पालिसी बेची और एक महीने में ही 25000 करोड़ रुपए से अधिक का प्रीमियम जुटाया। इस दौरान, 23 निजी क्षेत्र की बीमा कंपनियों की नई प्रीमियम से आय 14.10 फीसदी की वृद्धि के साथ 6211.17 करोड़ रुपए रही, जो एक साल पहले की इसी अवधि में 5443.75 करोड़ रुपए थी।

नया प्रीमियम कुल मिलाकर 65 फीसदी बढ़ा

चालू वित्त वर्ष की बात करें तो अप्रैल-जून अवधि के दौरान 24 जीवन बीमा कंपनियों का नया प्रीमियम कुल मिलाकर 65 फीसदी बढक़र 60637.22 करोड़ रुपए हो गया। अप्रैल-जून 2019-20 में एलआईसी की नई प्रीमियम आय 82 प्रतिशत बढक़र 44794.78 करोड़ रुपए रही। निजी क्षेत्र की कंपनियों में एचडीएफसी लाइफ का नया प्रीमियम 21 फीसदी बढक़र 1358.45 करोड़ रुपए रहा। एसबीआई लाइफ का प्रीमियम 28.14 फीसदी बढक़र 1310.07 करोड़ रुपए रहा।