15 मार्च को खुलेगा Nirman Agri Genetics का IPO, निवेशकों को मिलेगा मोटी रकम कमाने का मौका

Nirman Agri Genetics IPO: निर्माण एग्री जेनेटिक्स लिमिटेड एक एग्री-इनपुट कंपनी है। जो हाई क्वालिटी हाइब्रिड सीड्स का उत्पादन, प्रोसेसिंग और मार्केटिंग का काम करती है। बहुत जल्द कंपनी अपना इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग ला रही है। 15 मार्च को आईपीओ खुलेगा। निवेशक 20 मार्च तक दांव लगा पाएंगे। इसका प्राइस बैंड 99 रुपये प्रति शेयर है।

इन्वेस्टर्स 1 लॉट की बोली लगा पाएंगे। प्रत्येक लॉट में 118,800 रुपये के 1200 शेयरों को शामिल किया गया है। इश्यू के जरिए कंपनी 20.30 करोड़ का फंड कलेक्ट करेगी। कुल 2,050,800 शेयरों को फ्रेश इंशयु के रूप में जारी किया गया। अलॉटमेंट की बेसिस 23 मार्च, रिफंड्स का इनीशिएशन 24 मार्च और डिमैट के शेयरों का क्रेडिट 27 मार्च को होगा।

इस दिन होगी आईपीओ की लिस्टिंग

अतिरिक्त वर्किंग कैपिटल आवश्यकताओं के लिए फंडिंग, कंप्यूटर और अन्य हार्डवेयर की खरीददारी और जनरल कॉर्पोरेट उद्देश्यों के लिए कंपनी आईपीओ को ओपन करेगी। इसकी लिस्टिंग एनएसई और एसएमई पर हो सकती है। जिसके लिए 28 मार्च, 2023 की तारीख निर्धारित की गई है। प्रणव कैलास बगल कंपनी के प्रोमोटर हैं। प्री-इश्यू शेयर होल्डिंग 99.9% और पोस्ट इश्यू शेयर होल्डिंग 65.59% है।

कंपनी के बारे में

बता दें कि कंपनी 2020 से एग्री-इनपुट प्रवाइडर का कारोबार कर रही है। हाई-क्वालिटी सीड्स के साथ-साथ पेस्टिसाइड्स और बायो-ऑर्गैनिक का कारोबार भी करती है। इस प्रक्रिया में अलग-अलग प्रकार के फसलों का इस्तेमाल किया जाता है। हाल ही कंपनी ने सूक्ष्म पोषक तत्व और बायोप्रॉडक्ट्स में एंट्री ली है। मुख्य रूप से धान के लिए गैर-संकर बीज भी उत्पन्न करती है। फिलहाल, कंपनी के पास नासिक, महाराष्ट्र, गुजरात, निमगुल और मध्यप्रदेश में उत्पादन, अनुसंधान और आउटसोर्स प्रसंस्करण की सुविधाएं उपलब्ध है।

Disclaimer: इस लेख का उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है। MP Breaking News शेयर मार्केट और आईपीओ में निवेश करने की सलाह नहीं देता।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News