28 फरवरी को खुल गया इस कंपनी का IPO, निवेशक 2 मार्च तक लगा सकते हैं दांव, जानें डिटेल्स

IPO Coming Today: ग्रे मार्च में ResGen Limited का आईपीओ 28 फरवरी को खुल चुका है। इसकी चर्चा लंबे समय से हो रही थी। बिडिंग सुबह 10 बजे से शुरू हो चुकी है। प्लास्टिक वेस्ट से Pyrolysis Oil बनाने वाली यह कंपनी आज 6,000,000 शेयरों को जारी करने वाली है। जिसकी कुल राशि 28.20 करोड़ रुपये हैं। वहीं प्राइस बैंड 45 रुपये से लेकर 47 रुपये है। निवेशक 2 मार्च तक दांव लगा सकते हैं।

इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग की फेस वैल्यू 10 रुपये प्रति शेयर है। इन्वेस्टर्स एक लॉट की बोली लगा सकते हैं। प्रत्येक लॉट में 3000 शेयरों को शामिल किया गया है। जिसका अमाउन्ट 1,41,000 रुपये है। अलॉटमेंट के बेसिस की डेट 8 मार्च 2023 है। वहीं रिफंड्स के इनिशिएसन की तारीख 9 मार्च है। इसकी लिस्टिंग 13 मार्च 2023 को बीएसई और एसएमई पर हो सकती है। प्रोमोटर्स की प्री-शेयर होल्डिंग 94.15 फीसदी और पोस्ट इश्यू शेयर होल्डिंग 67.22 फीसदी है। प्रोमोटरों के नाम करण अतुल बोरा और कुणाल अतुल बोरा है।

मुंबई में स्थित यह कंपनी साल 2018 से Pyrolysis Oil के उत्पादन का कार्य कर रही है। बता दें कि यह प्लास्टिक वेस्ट से बना एक प्रकार का फर्नेस ऑयल होता है। 2021-22 से ही ResGen Limited ने अपना कमर्शियल प्रोडक्शन शुरू किया है। वर्किंग कैपिटल आवश्यकताओं की पूर्णी और जनरल कॉर्पोरेट उद्देश्य के कंपनी अपना आईपीओ ओपन कर रही है। साथ ही इसे जमा हुई राशी का इस्तेमाल  उत्पादन को बढ़ाने के लिए जमीन खरीदने में किया जाएगा।

(Disclaimer: इस लेख का उद्देश्य केवल जानकारी साझा करना है। MP Breaking News शेयर मार्केट या आईपीओ में निवेश करने की सलाह नहीं देता। यह जोखिम से भरा हो सकता है। विशेषज्ञों की सलाह जरूर लें।)

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News