टाटा के इस एसआईपी प्लान में मिलेगा तगड़ा रिटर्न, रिटायरमेंट के बाद हर महीने मिलेगी मोटी पेंशन, मौज में कटेगा बुढ़ापा

Pension Plan

Pension Plan: म्यूचुअल फंड में छोटे निवेश पर रिटायरमेंट के लिए अच्छा कॉर्पस तैयार किया जा सकता है। सिस्टमैटिक विथ्ड्रॉल प्लान का लाभ उठाते हुए वरिष्ठ नागरिक रिटायरमेंट बाद एक निर्धारित इंटरवल में रेगुलर इनकम का लाभ उठा सकते हैं। ताकि सीनियर सिटीजन अपनी जरूरतों को पूरा कर पाए। ऐसे ही एक SIP प्लान के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं, जो 5 साल के लॉक इन अवधि में 14% तक रिटर्न प्रदान कर सकता है। इस प्लान का नाम टाटा रिटायरमेंट सेविंग्स फंड प्रोग्रेसिव डायरेक्ट प्लान -ग्रोथ (Tata Retirement Savings Fund Progressive Direct Plan-Growth) है।

प्लान के बारे में

इस प्लान में हाई रिस्क होता हो। यह हाइब्रिड श्रेणी से संबंधित है। वर्तमान एनएवी यानि शुद्ध संपत्ति मूल्य करीब 58.8 रुपये है। पिछला रिटर्न एक साल में 17.8% रहा। वहीं 3 साल पर  16.5% और 5 वर्ष में 14.9% रहा। न्यूनतम एसईपीआई निवेश रुपये है। वहीं फंड का लंपसम निवेश राशि 5000 रुपये होती है। इसका एक्सपेन्स रेशीयो 0.6 रहा। AUM 1512 करोड़ रुपये और एक्जिट लोड 1 % है।

ये रहा कैलकुलेशन

यदि कोई व्यक्ति 5 वर्षों के लिए हर महीने 500 रुपये जमा करता है। तो उसे 30000 रुपये के निवेश पर करीब 46.51% रिटर्न के साथ 43,954 रुपये मिलेंगे। आप जितनी अधिक अधिक पेंशन चाहते उतना निवेश करना पड़ेगा। यदि कोई व्यक्ति हर महीने 5000 रुपये जमा करता है तो उसे 4 लाख 390 हजार रुपये का रिटर्न मिलता है। इस रकम को सिस्टमैटिक विथ्ड्रॉल प्लान (SWP) के माध्यम से मंथली पेंशन के रूप में प्राप्त कर सकते हैं।

(Disclaimer: इस आलेख का उद्देश्य केवल सामान्य जानकारी साझा करना है। MP Breaking News किसी भी स्कीम, शेयर मार्केट या प्लान में निवेश की सलाह नहीं देता।)


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News