RBI ने एक साल बाद हटाए मास्टरकार्ड से प्रतिबंध, अब नए ग्राहकों को खुद से जोड़ पाएगी कंपनी

भारतीय रिजर्व बैंक ने मास्टरकार्ड (Mastercard) पर से सारे प्रतिबंध हटा चुकी है। केन्द्रीय बैंक द्वारा यह कदम एक साल बाद उठाया गया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारतीय रिजर्व बैंक ने मास्टरकार्ड (Mastercard) पर से सारे प्रतिबंध हटा चुकी है। केन्द्रीय बैंक द्वारा यह कदम एक साल बाद उठाया गया है। आरबीआई के इस फैसले के बाद अमेरिकी कंपनी अब नए ग्राहकों को अपने नेटवर्क के अंदर शामिल कर सकती है। पिछले साल अप्रैल 2021 में रिजर्व बैंक ने स्थानीय डेटा भंडारण के नियमों का पालन ना करने पर मास्टरकार्ड पर प्रतिबंध लगा दिए थे।

यह भी पढ़े… Job Alert: स्टेट ऑफ इंडिया दे रहा है रोजगार, शुरू हो चुके हैं आवेदन, जाने आयु और पात्रता

उस समय आरबीआई ने यह बयान जारी किया था की मास्टरकार्ड द्वारा भुगतान प्रणाली डेटा के भंडारण के नियमों का पालन नहीं किया है। जुलाई 2021 से मास्टरकार्ड पर प्रतिबंध लागू किए गए थे। भारत में कई मास्टरकार्ड यूजर्स भी है। बैंक द्वारा जारी किए जाने वाले एटीएम कार्डों में एक मास्टरकार्ड भी है। लेन-देन और एटीएम ट्रैन्सैक्शन के लिए भी मास्टरकार्ड का इस्तेमाल किया जाता है।

यह भी पढ़े… अधिकारी-कर्मचारी के लिए बड़ी खबर, बढ़ाई गई रिटायरमेंट आयु, दो वर्ष की वृद्धि-पेंशन पर नई अपडेट

हालांकि प्रतिबंधों के बाद भी पुराने भारतीय यूजर्स मास्टरकार्ड का इस्तेमाल करने में सक्षम थे। इससे पहले 14 जुलाई 2021 को आरबीआई में मास्टरकार्ड पर नए ग्राहकों को जोड़ने पर प्रतिबंध लगाया था और यह भी सपष्ट किया था की मौजूद ग्राहकों पर फैसले का कोई असर नहीं होगा। जानकारी के लिए बता दें मास्टरकार्ड को PSS एक्ट के तहत देश में कार्ड नेटवर्क को संचालित करने की अनुमति दी गई है।