रिजर्व बैंक ने 18.66 अरब डॉलर बाजार में बेचे

reserve-bank-doller

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष के शुरुआती छह महीनों में हाजिर बाजार में 18.662 अरब डॉलर की शुद्ध बिक्री की है। डालर की बिक्री से देश के विदेशी मुद्रा भंडार में भी कमी आई है। केंद्रीय बैंक के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में हालांकि उसने 16.301 अरब डॉलर की शुद्ध खरीद की थी। रिजर्व बैंक ने सितंबर 2018 में शुद्ध रूप से 3.1 करोड़ डॉलर की हाजिर बाजार में बिक्री की। सितंबर में केंद्रीय बैंक ने 1.012 अरब डॉलर की खरीद और 1.043 अरब डॉलर की बिक्री की। वहीं अगस्त और जुलाई में इसने क्रमश: 2.323 अरब और 1.87 अरब डॉलर की बिक्री की थी। इससे पहले अप्रैल, मई और जून में बैंक ने क्रमश: 2.483 अरब, 5.767 अरब और 6.184 अरब डॉलर की शुद्ध बिक्री की थी। रिजर्व बैंक का कहना है कि विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में उसके हस्तक्षेप करने का मकसद रुपए की विनिमय दर में उतार-चढ़ाव को कम करना है। इसका मकसद विनिमय दर को किसी एक खास स्तर पर बनाये रखना नहीं है। रिजर्व बैंक पिछले कुछ महीनों से हाजिर बाजार में काफी सक्रिय है। हाल के दिनों में डालर के मुकाबले रुपए में काफी गिरावट आई है। वित्त वर्ष 2017-18 में केंद्रीय बैंक ने हाजिर बाजार में शुद्ध 33.689 अरब डॉलर की खरीद की थी। इसने 52.068 अरब डॉलर हाजिर बाजार से खरीदे और 18.379 अरब डॉलर की बिक्री की। इससे पिछले साल केन्द्रीय बैंक ने 12.35 अरब डालर की शुद्ध खरीदारी की थी।