1 जुलाई से बदलेंगे TDS के नियम, प्रावधान को लेकर गाइडलाइन जारी, मिलेगा फायदा

TDS के नवीन प्रावधान पर इनकम टैक्स विभाग ने जारी की नई गाइडलाइ

नई दिल्ली,डेस्क रिपोर्ट। आयकर विभाग ने (CBDT) ने टीडीएस (tds) प्रावधान को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है। विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार इस तरह के लाभ या तो नकद या वस्तु या फिर आंशिक रूप से इन दोनों रूपों में हो सकते हैं।

यह भी पढ़े…Haryana Board 10th Result 2022 : जारी किया हरियाणा बोर्ड ने 10वीं का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

सीबीडीटी ने यह भी कहा कि भुगतानकर्ता/कटौतीकर्ता को प्राप्तकर्ता के हाथ में राशि को लेकर कराधान जांच करने की आवश्यकता नहीं है। या फिर कटौतीकर्ता को प्राप्तकर्ता के काराधान जांच करने की आवश्यकता नहीं है। साथ ही लाभ या अनुलाभ के रूप में दी गई संपत्ति की प्रकृति प्रासंगिक नहीं होगी। साथ ही अतिरिक्त लाभ के रूप में दी गई संपत्ति की प्रकृति प्रासंगिक नहीं है। यहां तक कि लाभ के रूप में दी गई पूंजीगत संपत्तियां भी धारा 194आर के दायरे में आती हैं।

यह भी पढ़े…Video : जब Vaani kapoor कपूर के लिए आकांक्षा रंजन कपूर बनी कपड़े सीने वाली लड़की, देखिये वीडियो

इसके अलावा, धारा ‘194 आर’ उन विक्रेताओं पर भी लागू होगी जो छूट या छूट के अलावा प्रोत्साहन देते हैं। यह छूट नकद या कार, टीवी, कंप्यूटर, सोने का सिक्का, मोबाइल फोन, मुफ्त टिकट आदि जैसी वस्तुओं के रूप में हो सकती है।

यह भी पढ़े…कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, भत्ते को लेकर वित्त मंत्रालय ने जारी किया आदेश, मिलेगा लाभ

नए प्रावधान 1 जुलाई, 2022 से लागू होगा। वित्त वर्ष 2022-23 के बजट में कर राजस्व नुकसान को रोकने के लिए ऐसी आय के स्रोत पर टीडीएस के प्रावधान का प्रस्ताव किया गया था। बजट 2022-23 ने आईटी अधिनियम – 194R में एक नया खंड लाया गया है। इसी के आधार पर ये गाइडलाइन जारी की गई है।

यह भी पढ़े…Jug Jugg Jiyo : नीतू सिंह और कियारा आडवाणी ने छुए अनिल कपूर के पैर, देखिए तस्वीरें

सीबीडीटी ने स्पष्ट किया कि धारा 194आर अस्पताल में नि:शुल्क सैपल लेने वाले डॉक्टरों पर भी लागू होगा। एक कर्मचारी के रूप में हॉस्पिटल ऐसे सैंपलों को कर्मचारियों के लिए कर योग्य अनुलाभ के रूप में मान सकता है। इसी आधार पर धारा 192 के तहत टैक्स काट सकता है। वहीं टीडीएस पहले अस्पताल पर लागू होगा।