कंपनी बंद करेगी भारत से लोकप्रिय Volkswagen POLO की इकाई, जाने वजह

पोलो का निर्माण पुणे के चाकन मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में बांयी जा रही है। जिकी इसकी आखिरी इकाई उत्पादन होगी। पोलो की अब तक 3 लाख गाड़ियां बिक चुकी हैं।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। Volkswagen Polo के Lovers के लिए बुरी खबर है। दरअसल फॉक्सवेगन इस कार को भारतीय बाजार में बंद कर रही है। Volkswagen Polo कार को पसंद करने वालों की तादाद अधिक है। फिर ऐसा क्या कारण है कि Volkswagen इस हैचबैक कार को बंद कर रही है। बता दें आपको की 2010 में इस कार को भारतीय बाजार में उतारा गया था। जोकि काफी सफल हुई भारतीय बाजार में।

यह भी पढ़ें – Sidhi News: सीधी मामले पर नाराज शिवराज नाराज बोले,’देश में छवि धूमिल हुई’ एसपी पर गिर सकती है गाज

पोलो हैचबैक को बंद करने का फरमान कम्पनी ने आधिकारिक घोषणा करते हुए किया। इसमें उसने बताया कि वह भारत में अब इस गाड़ी का उत्पादन नहीं करेगा। साथ ही जारी पत्र में उसने सभी टीम मेंबर्स, इंजीनियर, एजेंसी, आम जनता सहित सर्विस टीम को भी धन्यवाद किया है। इसी साल पोलो के 12 साल हुए थे, जिसके उपलक्ष्य में कंपनी ने इसका स्पेशल एडिशन लॉन्च किया था।

यह भी पढ़ें – Sagar News: सागर में चलती कार में खिला रहे थे आईपीएल सट्टा, पुलिस ने घेराबंदी कर दो सटोरियों को दबोचा

पोलो का निर्माण पुणे के चाकन मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में बांयी जा रही है। जिकी इसकी आखिरी इकाई उत्पादन होगी। पोलो की अब तक 3 लाख गाड़ियां बिक चुकी हैं। दिल्ली में इसकी एक्स-शोरूम कीमत 7.02 लाख रुपये है और पोलो पहली मेड-इन-इंडिया हैचबैक है जिसमें स्टैंडर्ड डुअल एयरबैग्स दिए गए थे। इसने ग्लोबल NCAP सेफ्टी रेटिंग में 4 स्टार भी हासिल किये हैं।

यह भी पढ़ें – Indore News: एरोड्रम थाने क्षेत्र में गाड़ी टकराने के विवाद में युवक ने पुलिस कांस्टेबल को बुरी तरह पीटा

इस गाड़ी का समय से अपडेट न होने के कारण इसका उत्पादन बंद किया जा रहा है। लॉन्चिंग के बाद इसमें छोटे छोटे बदलाव हुए पर डिज़ाइन जस की तस है। जबकि कॉम्पिटिटर कंपनियों ने अत्यधिक डिज़ाइन के साथ गाड़ियां लांच कर चुकी हैं इन सालों में। जिसकी वजह से ग्राहक दूसरे मॉडल पर जा रहे हैं। अब कंपनी केवल मेड-फॉर-इंडिया MQB-A0-IN-आधारित उत्पादों पर ध्यान केंद्रित करेगी।