देश के ये सरकारी बैंक हो जाएंगे प्राइवेट, नीति आयोग ने जारी कर दी लिस्ट, जल्द होगा ऐलान, जानें यहाँ

नीति आयोग के मुताबिक दो पब्लिक सेक्टर बैंक और एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी का निजीकरण किया जाएगा। एसबीआई, PNB समेत अन्य कई लिस्ट में शामिल हो सकते हैं।

Banks Privatisation: नया साल शुरू होते ही बजट का इंतजार भी शुरू हो चुका है। इस दौरान कई अहम घोषणाएं होगी। जिसमें बैंक निजीकरण की लिस्ट भी शामिल है। हाल में नीति आयोग ने प्राइवेट वाले बैंकों की लिस्ट जारी की है। पिछले साल से ही यह मामला सुर्खियों में आर्थिक स्थिति क् देखते हुए सरकार ने कई बैंकों का मर्जर भी कर दिया है। आगे बैंकों के निजीकरण की तैयारी केन्द्रीय सरकार कर रहा है। इसकी घोषणा इस वित्त मंत्री द्वारा बजट 2023 के दौरान की जा सकती है।

इन बैंकों का हो सकता है निजीकरण

रिपोर्ट के मुताबिक पंजा नेशनल बैंक, केनरा बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा और इंडियन बैंक का निजीकरण हो सकता है। हालांकि इन्हें वित्त मंत्रालय द्वारा की गई सिफारिश के लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है। बता दें की बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि दो पब्लिक सेक्टर बैंक और जनरल इंश्योरेंस कंपनी को प्राइवेट किया जाएगा। इसके अलावा सरकार कई बैंकों के मर्जर पर भी विचार कर सकती है।

अब तक इनका हुआ मर्जर

उम्मीद है की बजट के दौरान प्राइवेट होने वाले बैंकों के नाम का ऐलान कर सकता है।  इससे पहले पंजाब नेशनल बैंक में यूनाइटेड बैंक और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का मर्जर करने का ऐलान केन्द्रीय सरकार द्वारा किया था। इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का मर्जर कर्नर का निर्णय लिया गया। इस लिस्ट में कई अन्य बैंक भी जुड़ते गए। अब तक सिंडीकेट बैंक और केनरा बैंक को एक कर दिया गया है। इसके अलावा कॉर्पोरेशन बैंक, यूनियन बैंक और आंध्रा बैंक का भी मर्जर किया गया।