Udayshivakumar Infra IPO के शेयरों का आज होगा अलॉटमेंट, 3 अप्रैल को होगी लिस्टिंग, जानें डिटेल्स

Manisha Kumari Pandey
Published on -

Udayshivakumar Infra IPO: उदयशिवकुमार इंफ्रा आईपीओ के शेयरों के अलॉटमेंट के लिए 27 मार्च यानि आज की तारीख तय की गई थी। 20 मार्च को सड़कों के कन्स्ट्रक्शन का कारोबार करने वाली इस कंपनी ने अपना इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग खोला था। जिसमें दांव लगाने की अंतिम तिथि 23 मार्च 2023 थी। 66 करोड़ रुपये जुटाने के लक्ष्य ने कुल 20,000, 000 इक्विटी शेयरों को ऑफरिंग के तहत जारी किया गया था।

चौथे इन आईपीओ को निवेशकों का शानदार रिस्पॉन्स मिला। इश्यू को नॉन-इन्स्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (NIIS) द्वारा 60.42 गुना सबस्क्राइब किया गया है। वहीं क्वालीफाइड इन्स्टीट्यूशनल खरीददारों ने 40.47 गुना ही सबस्क्राइब किया है। वहीं रीटेल निवेशकों ने इसे 14.10 गुना सबस्क्राइब किया। अंतिम दिन इश्यू को 30.63 गुना सब्स्क्रिप्शन मिला है। ओपनिंग के पहले दिन आईपीओ को 58% , दूसरे दिन 2.20 गुना और तीसरे दिन 5.15 गुना सब्स्क्रिप्शन मिला।

जिन भी निवेशकों ने कंपनी के इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग के लिए सबस्क्राइब किया था, वे लोग IPO Allocation नंबर और PAN के जरिए रजिस्ट्रार की वेबसाईट पर जाकर अलॉटमेंट स्टेटस चेक कर सकते हैं। बता दें की आईपीओ के लिए MAS सर्विसेज़ लिमिटेड रजिस्ट्रार हैं। उदयशिवकुमार इंफ्रा आईपीओ की लिस्टिंग 3 अप्रैल को होगी। 29 मार्च को रिफंड्स का इनिशीएशन होगा। अलॉटमेंट की स्टेस चेक करने के लिए आप एनएसई की ऑफिशियल वेबसाईट nseindia.com पर विज़िट कर सकते हैं।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News