CUET UG 2023: रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख आज, मई में परीक्षा, जल्द खुलेगा करेक्शन विंडो, जानें अपडेट

Manisha Kumari Pandey
Published on -

CUET UG 2023: कॉमन यूनिवर्सिटी एन्ट्रेंस टेस्ट (यूजी) के लिए आज आवेदन की अंतिम तारीख है। जिन भी इच्छुक उम्मीदवारों ने अब तक आवेदन नहीं किया है। वे आज ही इस प्रक्रिया को पूरा कर लें। कैंडीडेट्स ऑफिशियल वेबसाईट cuet.samarth.ac.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 30 अप्रैल तक सिटी इनफॉर्मेशन स्लिप की घोषणा हो सकती है। वहीं नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा मई में परीक्षा का आयोजन होगा।

परीक्षा की तारीख

21 मई 2023 से परीक्षा की शुरुआत होगी और 31 मई को समाप्त होगी। इस साल एग्जाम 2 नहीं बल्कि तीन शिफ्ट में आयोजित होंगे। सीयूईटी यूजी एग्जाम का आयोजन 13 भाषाओं में होगा। जिसमें हिन्दी, इंग्लिश, बंगाली, गुजराती, असमी, मलयालम, कन्नड, तमिल, पंजाबी, ओडिया, तेलुगु, मराठी और उर्दू शामिल है। इस परीक्षा के स्कोर के आधार पर देश के विभिन्न यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में उम्मीदवारों का दाखिला होगा।

इस दिन खुलेगा करेक्शन विंडो

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो सीयूईटी यूजी का करेक्शन और एडिट का विंडो 1 अप्रैल से खुल सकता है। उम्मीदवार अपने एप्लीकेशन फॉर्म की गलतियों को सुधार सकते हैं। साथ ही कुछ बदलाव भी कर सकते हैं। 3 अप्रैल तक करेक्शन विंडो खुला रहेगा।

ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

  • सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाईट cuet.samarth.ac.in पर जाएं।
  • अब होमपेज पर दिए गए “रजिस्ट्रेशन” लिंक पर क्लिक करें।
  • रजिस्ट्रेशन करने के बाद अपनी डिटेल्स डालकर लॉग इन करें।
  • लॉग इन करने पर एप्लीकेशन फॉर्म का पेज खुल जाएगा। अब इसमें सही-सही जानकारी दर्ज करें।
  • उसके बाद अभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करें।
  • फीस जमाकर सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • एप्लीकेशन फॉर्म को पर डाउनलोड करें। भविष्य में इस्तेमाल के लिए आप इसे डाउनलोड भी कर सकते हैं।

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News