MP Board : 9वीं-10वीं छात्रों के लिए बड़ी खबर, नए सत्र में बदलेगा पैटर्न, इस तरह तैयार होंगे रिजल्ट, समिति को भेजा गया प्रस्ताव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 9वीं-10वीं छात्रों के लिए बड़ी खबर है। नए सत्र (New session 2022-23) से मध्य प्रदेश बोर्ड (MP Board) की परीक्षा पद्धति (Exam pattern) में बदलाव किया जाएगा। दरअसल अगले सत्र 2022 23 से पैटर्न बदल दिए जाएंगे। राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP 2020) के तहत बदलाव किए जा रहे हैं। जिसके बाद अब नए पैटर्न पर प्रश्न पत्र (question paper)  तैयार किया जाएगा।जानकारी के मुताबिक छात्रों को 75 फीसद अंक सैद्धांतिक जबकि 25 फीसद अंक प्रायोगिक परीक्षा के लिए उपलब्ध कराए जाएंगे।

नियमित व स्वाध्याय छात्र 75 अंक की सैद्धांतिक परीक्षा में शामिल होंगे वही बिना प्रायोगिक परीक्षा वाले विषय में 25 अंक आंतरिक मूल्यांकन के होंगे। जानकारी के मुताबिक आंतरिक मूल्यांकन के 25 अंक में 15 अंक के प्रोजेक्ट सहित पांच अंक तिमाही छमाही परीक्षा के आधार पर जबकि पांच अंक नोटबुक प्रस्तुतीकरण के आधार पर उपलब्ध कराए जाएंगे। अगले सत्र 2022 23 से नौवीं और दसवीं में इस बटन को लागू किया जाएगा।

स्वाध्याय छात्रों को इसमें बड़ी राहत मिलेगी दरअसल उन्हें सिर्फ 75 रन के सिद्धांत एक परीक्षा में उपस्थित होना पड़ेगा जबकि 75 अंक के साथ आंतरिक परीक्षा के आधार पर 25 अंक का अधिकार उन्हें दिया जाएगा। दरअसल माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा भारतीय शिक्षा समिति की बैठक की गई थी। जिसमें इस प्रस्ताव पर विचार किया गया है मशीन द्वारा प्रस्ताव तैयार कर परीक्षा समिति को भेजी जाएगी।

Read More : एरियर्स भुगतान पर आई बड़ी अपडेट, अधिकारियों को 50 हजार तक का नुकसान, कर्मचारियों की मांग- जल्द लागू हो ये योजना

वहीं परीक्षा समिति से अनुमति मिलने के बाद इसे लागू किया जाएगा नए सत्र 2022 23 मई से लागू करने के साथ ही इस का ब्लूप्रिंट तैयार करो माध्यमिक शिक्षा मंडल की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा जिसमें छात्रों के सभी संदेश पर विराम लग जाएंगे वहीं अभी तक दसवीं में अंकित सिद्धांतों की प्रायोगिक परीक्षा आयोजित की यदि हाला की 12वीं की परीक्षा में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा और 12वीं में पैटर्न पुराने तरह से ही होंगे।

इस मामले में जानकारी देते हुए माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव श्रीकांत बनोठ ने कहा कि 10वीं में 75 अंक का सैद्धांतिक और 25 अंक के आंतरिक मूल्यांकन होंगे। जिसे 9वीं-10वीं में लागू किया जाएगा 12वीं की परीक्षा में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। वहीं इससे 10वीं के रिजल्ट के प्रतिशत बढ़ने मदद मिलेगी। दरअसल इस नए नियम के तहत 25 अंक विद्यार्थियों को स्कूल द्वारा भेजेंगे। जिससे छात्रों के अच्छे अंक मिलने की उम्मीद बढ़ जाएगी और रिजल्ट के प्रतिशत भी बनेंगे।

Read More : कर्मचारियों के लिए खुशखबरी! पेंडिंग DA arrears पर आया ताजा अपडेट, जानें कब खाते में आएंगे 2 लाख?

बता दे कि दसवीं के विशाल सॉन्ग को किस में नियमित छात्रों के लिए 75 अंक की सैद्धांतिक जबकि प्रशासन के अंतिम मूल्यांकन के अंक में मिलेंगे। वहीं स्वाध्याय छात्रों को पेपर से 75 अंक का होगा। इन्हें 25 अंक अधिकार दिए जाएंगे जैसे 75 में से यदि कोई छात्र 60 अंक अर्जित करता है तो उन्हें 25 अंक का अधिभार देते हुए उसे 80 अंक दिए जाएंगे।