MP Board : 9वीं-12वीं छात्रों के लिए महत्वपूर्ण अपडेट, 1 दिसंबर से शुरू होगी परीक्षाएं, गाइडलाइन जारी

जारी दिशानिर्देश ने स्पष्ट कहा गया कि सभी जिलों के लिए कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं के विषयों के सभी विद्यालयों को प्रदान किए जाने वाले प्रश्न पत्र का चयन इस प्रकार किया जाए कि जिस जिले में प्रश्न पत्र तैयार किए गए हैं, उसे उस जिले के प्रश्न पत्र वापस ना मिले।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एमपी बोर्ड (MP Board) नौवीं से बारहवीं (9th-12th) तक के छात्रों के लिए महत्वपूर्ण अपडेट है, दरअसल अर्द्धवार्षिक परीक्षाओं (half yearly exam) की तारीखों की घोषणा की जा चुकी है। परीक्षाएं 1 दिसंबर से शुरू होकर 8 दिसंबर तक संचालित की जाएगी। साथ ही प्रश्न पत्र के संबंधित सभी जरूरी तैयारियों को पूरा करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं। लोक शिक्षण (DPI) मध्य प्रदेश के आयुक्त अभय वर्मा ने इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

जारी गई गाइडलाइन के मुताबिक सभी संयुक्त संचालक को अपने संभाग में हायर सेकेंडरी स्कूलों के कक्षा 11वी और 12वी के संभागों की सभी विषयों के प्रश्न पत्र तैयार कराने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी माध्यम के छात्रों के लिए भी अंग्रेजी माध्यम में प्रश्नपत्र अलग से तैयार करवाए जाएंगे।

इसके अलावा संभाग के प्रत्येक जिले में 11वीं और 12वीं के सभी संकाय के सभी विषयों की 2 सीट माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा जारी निर्देशों ब्लूप्रिंट के आधार पर शिक्षकों से तैयार करवाने के निर्देश भी जारी किए गए हैं। इसके लिए मॉडरेट भी करवाने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही अंग्रेजी मीडियम के छात्रों की संख्या के अनुरूप ही स्कूल प्राचार्य द्वारा प्रश्नपत्र मुद्रित करवाए जाएंगे।

Read More : अशोक शाह के बयान पर कंट्रोवर्सी : अब इमरती देवी बोलीं ‘इससे महिलाओं की छवि खराब हो रही’

जारी करने में कहा गया है कि प्रश्नपत्र में नवंबर तक के शैक्षणिक कैलेंडर अनुसार सभी पाठ्यक्रम को शामिल किया जाए और प्रश्न पत्र ब्लू प्रिंट के आधार पर ही तैयार किए जाए। साथ ही जिला स्तर पर सभी कक्षाओं के सभी विषयों के 2 सेट सॉफ्ट और हार्ड कॉपी को सील कर एडीपीसी संभाग स्तर पर भेजा जाए।

दिशानिर्देश के मुताबिक संयुक्त संचालक की अध्यक्षता में प्रभारी उपसंचालक के सहायक संचालक एडीपीसी और विद्यालय के प्राचार्य की समिति जिलों से प्राप्त 11वीं और 12वीं के 2 सेट में से किन्ही तीन सेट का चयन कर सकेगी।

जारी दिशानिर्देश ने स्पष्ट कहा गया कि सभी जिलों के लिए कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं के विषयों के सभी विद्यालयों को प्रदान किए जाने वाले प्रश्न पत्र का चयन इस प्रकार किया जाए कि जिस जिले में प्रश्न पत्र तैयार किए गए हैं, उसे उस जिले के प्रश्न पत्र वापस ना मिले।

इसके अलावा अंतिम चयनित प्रश्नपत्र की सॉफ्ट कॉपी उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य अपने जिले के प्रश्न पत्र की एक-एक फोटो कॉपी निकलवा कर उन्हें सील लिफाफे में पैक कर सभी विद्यालय के प्राचार्य को 18 नवंबर तक अनिवार्य रूप से सौंपे। 18 नवंबर तक प्रश्न पत्र प्राचार्य को सौंपना अनिवार्य किया गया है।

जिला स्तर पर क्वेश्चन पेपर तैयार करने सहित उनके मॉडरेशन और अंतिम रूप में भेजे जाने वाले, क्वेश्चन पेपर के चयन सहित प्राचार्य द्वारा सील क्वेश्चन पेपर कैसेट के पैकेट और उसकी गोपनीयता बनाने की जिम्मेदारी सभी अधिकारी प्राचार्य और प्रश्न पत्र निर्माता शिक्षकों की होगी। किसी भी अनुशासनहीनता पर इन लोगों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है।